अमेरिकी फ़ेडरल रिज़र्व ने ऋण दर को बढ़ाकर 2.5% किया

अमेरिकी फ़ेडरल रिज़र्व ने प्रमुख ब्याज को 2.25% से 2.5% की रेंज तक बढ़ा दिया है। इस वर्ष यह फ़ेडरल रिज़र्व द्वारा की जाने वाली चौथी बढ़ोत्तरी है। इस वृद्धि से लोगों तथा उद्योगों के लिए ऋण लेना महंगा हो जायेगा।

फ़ेडरल रिज़र्व पिछले कुछ समय से धीरे-धीरे व्याज दरों में वृद्धि कर रहा है। फ़ेडरल रिज़र्व ने तीन वर्ष पहले साख पर नियंत्रण शुरू किया था, उसके पश्चात् यह ब्याज दरों में की जाने वाली नौवीं वृद्धि है। हाल ही में फ़ेडरल रिज़र्व ब्याज दरों की दर पर रोक लगाने पर विचार कर रहा है, इसका कारण वैश्विक आर्थिक मंदी, अमेरिका तथा चीन के बीच व्यापार युद्ध, हल्की मुद्रास्फीति तथा स्टॉक कीमतों में कमी इत्यादि हैं।

अमेरिकी अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति

वर्तमान में अमेरिकी अर्थव्यवस्था मजबूती पकड़ रही है। अमेरिका में बेरोज़गारी दर 3.7% से नीचे है, यह दर पिछले 49 वर्षों की सबसे न्यूनतम बेरोज़गारी दर है। वर्तमान में उपभोक्ता व्यय की दर भी काफी अच्छी है। इस वर्ष अमेरिकी अर्थव्यवस्था की विकास दर लगभग 3% है, यह पिछले एक दशक में अमेरिकी अर्थव्यवस्था की सबसे बेहतरीन विकास दर है।

परन्तु अभी भी अमेरिकी अर्थव्यवस्था के सामने कई चुनौतियाँ हैं, इनमे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का संरक्षणवाद, व्यापार युद्ध , चीनी अर्थव्यवस्था की धीमी गति तथा ब्रैग्ज़िट प्रमुख हैं। विशेषज्ञों ने 2019 में अमेरिकी अर्थव्यवस्था के धीमा होने का अनुमान लगाया है।

फ़ेडरल रिज़र्व

फ़ेडरल रिज़र्व अमेरिका का केन्द्रीय बैंक है (जिस प्रकार RBI भारत का केन्द्रीय बैंक है)। इसकी स्थापना 23 दिसम्बर, 1913 को की गयी थी, इसका मुख्यालय वाशिंगटन में स्थित है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,