आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत सार्वजनिक स्थानों पर थूकना अपराध घोषित किया गया

गृह मंत्रालय ने लॉक डाउन 2.0 के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। नए दिशानिर्देशों के अनुसार राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत सार्वजनिक स्थानों पर थूकना अपराध घोषित किया गया है।

मुख्य बिंदु

दिशानिर्देशों में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51 के तहत सार्वजनिक स्थान पर थूकना दंडनीय अपराध बनाया गया है। आदेश का पालन न करने पर एक साल तक कारावास की सजा हो सकती।

बिहार, तेलंगाना, झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, महाराष्ट्र, असम और नागालैंड जैसे राज्यों ने धुआंरहित तंबाकू उत्पादों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है। अन्य राज्यों ने सार्वजनिक स्थानों पर थूकने के माध्यम से COVID -19 के प्रसार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत पारित आदेश पूरे भारत में लागू होता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,