इंद्र अभ्यास 2019 का समापन हुआ

भारत और रूस के बीच इंद्र अभ्यास का आयोजन 10 से 19 दिसम्बर के दौरान किया गया। इस युद्ध अभ्यास का उद्देश्य दोनों  देशों की सेनाओं के बीच इंटरओपेराबिलिटी को बढ़ावा देना तथा समुद्री सुरक्षा ऑपरेशन के सम्बन्ध में आपसी समझ को विकसित करना था।

इंद्र अभ्यास  2019

यह एक त्रिसेवा अभ्यास है, इसमें दोनों देशों की थल सेना, वायुसेना तथा नौसेना ने हिस्सा लिया। इस अभ्यास का आयोजन गोवा तथा पुणे में किया गया। इसमें लड़ाकू विमान, युद्ध पोत इत्यादि का उपयोग किया गया।

पृष्ठभूमि

भारतीय नौसेना रूसी नौसेना के साथ विभिन्न गतिविधियों में शामिल होती है, इसमें ऑपरेशनल इंटरेक्शन, प्रशिक्षण, हाइड्रोग्राफ़िक ऑपरेशन इत्यादि प्रमुख है। इंद्रा नौसेना अभ्यास की शुरुआत वर्ष 2003 में हुई थी, तत्पश्चात इस युद्ध अभ्यास के आकार व क्षेत्र में काफी वृद्धि हुई है। इस युद्ध अभ्यास से दोनों देशों की नौसेनाओं के कौशल तथा समन्वय में वृद्धि होगी। 2017 में प्रथम त्रिसेवा अभ्यास का आयोजन किया गया था।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,