एयर इंडिया बनी उत्तरी ध्रुव के ऊपर से उड़ान भरने वाली पहली भारतीय एयरलाइन

73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर एयर इंडिया उत्तरी ध्रुव के ऊपर से उड़ान भरने वाली पहली भारतीय एयरलाइन बन गयी है। दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को की उड़ान के द्वारा 2000 से 7000 इंधन की बचत होगी। इससे प्रति उड़ान 6000 से 21,000 कार्बन उत्सर्जन में भी कमी जायेगी। यह उड़ान किर्गिजस्तान, कजाखस्तान, रूस, आर्कटिक महासागर, कनाडा से होते हुए अमेरिका में प्रवेश करेगी। इस नए मार्ग से दिल्ली-सैन फ्रांसिस्को की यात्रा 12,000 किलोमीटर से कम होकर 8,000 किलोमीटर रह जाएगी। इससे यात्रा में लगने वाले समय में 30 मिनट की बचत होगी। उत्तरी ध्रुव के ऊपर से जाने वाली इस उड़ान के पायलट कैप्टेन रजनीश शर्मा तथा कैप्टेन दिग्विजय सिंह थे।

एयर इंडिया

एयर इंडिया की स्थापना 15 अक्टूबर, 1932 को टाटा एयरलाइन्स के रूप में की गयी थी।  द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद इसे सार्वजनिक कंपनी बनाया गया। भारत सरकार ने 1953 में एयर कारपोरेशन अधिनियम पारित करके टाटा एयरलाइन्स में बड़ी हिस्सेदारी खरीदी। बाद में इसका नाम बदलकर एयर इंडिया इंटरनेशनल लिमिटेड कर दिया गया। वर्तमान समय में एयर इंडिया 4 महाद्वीपों के 60 अंतर्राष्ट्रीय स्थानों में सेवाएं प्रदान करता हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , , ,