केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने “ब्लू फ्लैग” प्रमाणीकरण के लिए भारत के 12 बीच का चयन किया

केन्द्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने हाल ही में “ब्लू फ्लैग” प्रमाणीकरण के लिए भारत के 12 बीच का चयन किया है, यह बीच हैं : शिवराजपुर (गुजरात), भोगवे (महाराष्ट्र), कप्पड़ (केरल), घोघला (दिउ), मिरामार (गोवा), कासरकोड और पदुबिदरी (कर्नाटक), ईडन (पुदुचेरी), महाबलीपुरम (तमिलनाडु), रुशिकोंडा (आंध्र प्रदेश), गोल्डन (ओडिशा) तथा राधानगर (अंदमान व निकोबार द्वीप समूह) ।

ब्लू फ्लैग प्रमाणीकरण

ब्लू फ्लैग प्रमाणीकरण एक अंतर्राष्ट्रीय मान्यता है, यह उन बीच को प्रदान की जाती है जो स्वच्छता तथा पर्यावरण सम्बन्धी विभिन्न कसौटियों पर खरे उतरते हैं। ब्लू फ्लैग कार्यक्रम का संचालन डेनमार्क बेस्ड संगठन फेडरेशन ऑफ़ एनवायरनमेंट एजुकेशन (FEE) द्वारा किया जाएगा। ब्लू फ्लैग प्रमाणीकरण के कुल 33 मापदंड हैं, इस मापदंडों पर खरा उतरने के बाद किसी स्थान को ब्लू फ्लैग प्रमाणीकरण प्रदान किया जाता है। इनमे कुछ एक प्रमुख मापदंड हैं – कचरा निपटान सुविधा, दिव्यांग जनों के लिए सुविधाएँ, फर्स्ट ऐड उपकरण इत्यादि।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,