केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने रेलवे क्षेत्र में तकनीकी सहयोग हेतु भारत-यूएई के बीच समझौता ज्ञापन को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रेल क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) को मंजूरी दे दी है। निम्‍नलिखित क्षेत्रों में इस ज्ञापन से तकनीकी सहयोग हो सकेगा:-

० सुरक्षा, नियंत्रण और दुर्घटनाओं की तकनीकी जांच।
० स्‍टेशन का पुनर्विकास।
० कोच ,लोकोमोटिव और वैगन;
० संयुक्‍त रूप से भागीदारों द्वारा पहचाना गया कोई अन्‍य क्षेत्र।

लाभ

भारतीय रेलवे को समझौता ज्ञापन से रेल क्षेत्र में नवीनतम विकास और जानकारी को बांटने तथा उसके बारे में बातचीत करने के लिए एक मंच मिलेगा। इस ज्ञापन से जानकारी का सरलता से आदान-प्रदान हो सकेगा, विशेषज्ञों की बैठकें हो सकेंगी, सेमिनार तकनीकी यात्राएं तथा संयुक्‍त रूप से मंजूर सहयोग की परियोजनाओं का कार्यान्‍वयन हो सकेगा।

पृष्ठभूमि

रेल क्षेत्र में तकनीकी सहयोग के लिए रेल मंत्रालय ने विभिन्‍न विदेशी सरकारों और राष्‍ट्रीय रेलवे के साथ समझौता ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर किये है। सहयोग के पहचाने गये क्षेत्रों में हाई स्‍पीड गलियारा (कॉरिडोर), वर्तमान रूटों की स्‍पीड में वृद्धि, विश्‍व स्‍तर के स्‍टेशनों का विकास, भारी ढुलाई कार्यों और रेल बुनियादी ढांचे का आधुनिकीकरण शामिल हैं। रेलवे की टेक्‍नोलॉजी और कार्यों के क्षेत्रों में हुए विकास संबंधी सूचना के आदान-प्रदान,तकनीकी यात्राओं, जानकारी को बांटने, प्रशिक्षण और सेमिनारों तथा आपसी हित से जुड़े क्षेत्रों में कार्यशालाओं का आयोजन करके सहयोग को हासिल किया जा सकता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,