कोरोना वायरस के कारण एफडीआई प्रवाह में 15% गिरावट के आसार : UNCTAD

व्यापार, निवेश और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) ने चेतावनी दी है कि दुनिया भर में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश प्रवाह में कोरोना वायरस के कारण 15% की गिरावट आ सकती है। UNCTAD के अनुसार कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए 2 ट्रिलियन अमरीकी डालर का नुकसान हो सकता है।

मुख्य बिंदु

संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2020-21 के लिए वैश्विक अर्थव्यवस्था की वृद्धि 0.5% और 1.5% के बीच रहने का अनुमान लगाया था। कोरोनावायरस के प्रसार के साथ, UNCTAD ने आर्थिक विकास में और गिरावट की भविष्यवाणी की है।

भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश

भारत विदेशी कंपनियों के लिए देश में निवेश करने के लिए प्रोटोकॉल आसान कर रहा है। 2014 और 2019 के बीच भारत में  318 बिलियन  डालर से का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश भारत में आया। 2018-19 में FDI अंतर्वाह सबसे अधिक 62 बिलियन डालर था।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,