क्षेत्रीय विमानन साझेदारी : कैबिनेट ने दी ब्रिक्स देशों के साथ MoU को मंज़ूरी

केन्द्रीय कैबिनेट ने ब्रिक्स देशों (ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के साथ क्षेत्रीय विमानन पार्टनरशिप के सम्बन्ध में  MoU पर हस्ताक्षर करने के लिए मंज़ूरी प्रदान की। इस MoU से नागरिक उड्डयन क्षेत्र में आपसी सहयोग से सभी ब्रिक्स देशों को लाभ होगा, इसके तहत एक संस्थागत फ्रेमवर्क स्थापित किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

यह MoU भारत और ब्रिक्स सदस्य के बीच नागरिक उड्डयन क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण लैंडमार्क है। इससे ब्रिक्स देशों के बीच व्यापार, निवेश, पर्यटन और सांस्कृतिक आदान-प्रदान को बढ़ावा मिलेगा। इस MoU के तहत जन नीतियां, आधारभूत सरंचना प्रबंधन, एयर नेविगेशन सेवाएं, नियंत्रक एजेंसी, नवोन्मेष, पर्यावरण संतुलन, प्रशिक्षण इत्यादि कई क्षेत्रों में सहयोग किया जायेगा।

ब्रिक्स

ब्रिक्स तेज़ी से उभरती हुई विश्व की पांच बड़ी अर्थव्यवस्थाओं का समूह है, आरम्भ में इसमें ब्राज़ील, रूस, भारत और चीन शामिल थे। 2010 में इस समूह में दक्षिण अफ्रीका को शामिल किया गया। 2018 में ब्रिक्स देशों का सकल घरेलु उत्पाद (GDP)18.6 ट्रिलियन डॉलर है, जो कि विश्व जीडीपी का 23.2% है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,