ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (GII) में भारत 57 वें स्थान पर

हाल ही में जारी किए गए ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (GII) 2018 में, भारत 130 देशों में 57 वें स्थान पर रहा. यह जीआईआई का 11 वां संस्करण था जो संयुक्त रूप से कॉर्नेल विश्वविद्यालय, इन्सिएड और विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIPO) द्वारा जारी किया गया था. वर्ष 2017 में भारत इस सूची में 60 वें स्थान पर था जबकि इस साल भारत की रैंकिंग में 3 स्थानों की बढ़त देखी गई है.

मुख्य पहलू

भारत ने मध्य और दक्षिण एशिया क्षेत्र में अपनी शीर्ष जगह बनाई है. जबकि वैश्विक रैंकिंग के मामले में भारत इस साल 57 वें स्थान पर रहा. पिछले वर्ष (2017) में भारत तीन स्थान नीचे 60 पर था जबकि 2016 में 66 वें तथा 2015 में भारत 81 वें स्थान पर था. इस तरह से भारत ने इस सूची में लगातार अपनी रैंकिंग में सुधार किया है. स्विटजरलैंड इस सूचकांक में शीर्ष स्थान पर रहा तथा चीन ने सूची में अपना 17 वां स्थान सुनिश्चित किया. भारत ने कई महत्वपूर्ण सूचकांकों की रैंकिंग में भी वृद्धि की है, इसमें भारत की मानव पूंजी (विज्ञान और इंजीनियरिंग में स्नातक), प्रति कार्यकर्ता जीडीपी की वृद्धि दर, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (ICT) और सेवाओं, उत्पादकता वृद्धि और रचनात्मक सामान निर्यात आदि शामिल हैं.

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स (जीआईआई)

जीआईआई वैश्विक रैंकिंग विश्व बौद्धिक संपदा संगठन (WIOP) द्वारा प्रकाशित की जाती है जो कॉर्नेल विश्वविद्यालय और स्नातक बिजनेस स्कूल इन्सिएड के सहयोग से संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी है. यह सूचकांक 80 संकेतकों के आधार पर राष्ट्रों को रैंक देता है, जिनमे बौद्धिक संपदा फाइलिंग दर, आर एंड डी (Research & Development), ऑनलाइन रचनात्मकता, मोबाइल एप्लिकेशन निर्माण, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर खर्च, शिक्षा खर्च, वैज्ञानिक और तकनीकी प्रकाशन शामिल है. जीआईआई इंडेक्स के हिसाब से भारत मध्य और दक्षिण एशिया क्षेत्र में सबसे इनोवेटिव देश है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,