तियानवेन 1: चीन का पहला मंगल अन्वेषण मिशन

24 अप्रैल, 2020 को चीनी राष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रशासन (CNSA) ने अपने पहले मंगल अन्वेषण मिशन को तियानवेन 1 नाम दिया। CNSA ने यह भी घोषणा की कि इसके बाद सभी ग्रहों के मिशनों को तियानवेन श्रृंखला का नाम दिया जायेगा।

मुख्य बिंदु

यह घोषणा 24 अप्रैल को गयी क्योंकि चीन 2016 से 24 अप्रैल को अपना राष्ट्रीय अंतरिक्ष दिवस मना रहा है। चीन अपने पहले उपग्रह डोंगफंगहोंग-1 के प्रक्षेपण को चिह्नित करने के लिए अंतरिक्ष दिवस मनाता है।

तियानवेन

तियानवेन का अर्थ है स्वर्गीय प्रश्न। चीनी मंगल मिशन में ग्रह की परिक्रमा, लैंडिंग और रोविंग शामिल है। इससे पहले 2011 में, चीन ने एक रूसी अंतरिक्ष यान में यिंगहुओ-एक नामक अपनी मिशन भेजने का प्रयास किया था। हालांकि, इसके पुन: प्रवेश के बाद यह अंतरिक्ष यान खो गया था।

विश्व के मंगल मिशन

अब तक भारत, रूस, यूरोपीय संघ और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देश मंगल पर मिशन भेजने में सफल रहे हैं। भारत के मंगल मिशन का नाम “मंगलयान” रखा गया। इसे इसरो द्वारा 2013 में लॉन्च किया गया था। भारत रूस, अमेरिका और यूरोपीय संघ के बाद मंगल पर पहुंचने वाला दुनिया का चौथा देश था।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,