तुषार मेहता नियुक्त किये गये देश के नए सॉलिसिटर जनरल

वरिष्ठ अधिवक्ता तुषार मेहता को देश का नया सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया है। उनकी नियुक्ति कैबिनेट की नियुक्ति समिति द्वारा की गयी है, वे 30 जून, 2020 तक इस पद पर कार्यरत्त रहेंगे। वे वर्तमान में अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल के रूप में कार्य कर रहे हैं, वे 2014 से इस पद पर कार्यरत्त हैं। पिछले वर्ष रणजीत कुमार के इस्तीफे के बाद से सॉलिसिटर जनरल का पद खाली है।

तुषार मेहता 

तुषार मेहता ने अपने कानूनी करियर की शुरुआत 1987 में वकील के रूप में की। 2007 में वे गुजरात उच्च न्यायालय में वरिष्ठ अधिवक्ता बने। 2008 में वे गुजरात के अतिरिक्त महाधिवक्ता बने, उन्होंने कई कानूनी मामलों में गुजरात सरकार की पैरवी की। जून, 2018 में उन्हें देश का अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया गया था।

सॉलिसिटर जनरल  

सॉलिसिटर जनरल भारत के महान्यायवादी (अटॉर्नी जनरल) के अधीन कार्य करता है। सॉलिसिटर जनरल की नियुक्ति तीन वर्ष की अवधि के लिए की जाती है। सॉलिसिटर जनरल देश का दूसरा सर्वोच्च कानूनी अफसर होता है। वह महान्यायवादी के सहायक के रूप में कार्य करता है, जबकि अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल, सॉलिसिटर जनरल की सहायता करता है। सॉलिसिटर जनरल भी कानूनी मामलों में सरकार को परामर्श देता है।

महान्यायवादी सरकार का मुख्य कानूनी सलाहकार तथा सर्वोच्च न्यायालय में सरकार का प्रमुख वकील होता है। महान्यायवादी की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा संविधान के अनुच्छेद 76(1) के तहत की जाती है। महान्यायवादी उस व्यक्ति को नियुक्त किया जाता है जो सर्वोच्च न्यायालय का न्यायधीश बनने की योग्यता रखता हो।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,