दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने विश्व रिकॉर्ड बनाया

हाल ही में केन्द्रीय सामाजिक  न्याय व सशक्तिकरण विभाग के अंतर्गत दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने विश्व रिकॉर्ड बनाया। विभाग ने आधुनिक कृत्रिम अंग आरोपण का कार्य गुजरात के भरूच में किया था। इस दौरान रिकॉर्ड 8 घंटों में 260 लोगों को आधुनिक कृत्रिम अंगों का आरोपण किया गया। यह दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा स्थापित किया जाने वाले सातवाँ विश्व रिकॉर्ड है।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग

12 मई, 2012 को दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग को अलग विभाग के रूप में स्थापित किया गया था। इसका उद्देश्य दिव्यांगजनों के कल्याण तथा इससे सम्बंधित नीतियों पर फोकस करना था। इस विभाग का वर्तमान नाम 8 दिसम्बर, 2014 को रखा गया था।

यह विभाग दिव्यांगजनों से सम्बंधित मामलों के लिए नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करता है। यह विभाग विभिन्न केन्द्रीय मंत्रालयों, राज्यों के मंत्रालयों तथा गैर-सरकारी संस्थाओं के बीच समन्वय का कार्य करता है।

इस विभाग के निर्माण का उद्देश्य एक समावेशी समाज का निर्माण करना है, जिसमे दिव्यांगजनों के विकास के लिए उचित अवसर प्रदान किये जाएँ तथा वे उत्पादक, सुरक्षित तथा सम्मानित जीवन व्यतीत कर सकें।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,