पीपीई को कीटाणुरहित करने के लिए डीआरडीओ ने “अल्ट्रा स्वच्छ” बूथ विकसित किया

रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (DRDO) ने अल्ट्रा स्वच्छ नामक एक कीटाणुशोधन इकाई विकसित की। इस इकाई का उपयोग इलेक्ट्रॉनिक आइटम, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, कपड़े आदि को कीटाणुरहित करने के लिए किया जाता है।

मुख्य बिंदु

यह यूनिट आइटमों कीटाणुरहित करने के लिए ओजोनेटेड स्पेस टेक्नोलॉजी नामक एक उन्नत ऑक्सीडेटिव प्रक्रिया का उपयोग करती है। इस डिवाइस में ओजोन सीलेंट टेक्नोलॉजी का भी उपयोग किया गया है।

अल्ट्रा स्वच्छ यूनिट में एक उत्प्रेरक कनवर्टर होता है जो इसे पर्यावरण के अनुकूल बनाता है। इसमें कई सुरक्षा विशेषताएं भी हैं जैसे कि डोर इंटरलॉक, आपातकालीन शट डाउन, विलंब चक्र, दोहरे दरवाजे, रिसाव मॉनिटर आदि।

यह प्रणाली औद्योगिक, व्यक्तिगत, व्यवसायों और पर्यावरण सुरक्षा के अंतर्राष्ट्रीय मानकों का अनुपालन करती है।

निस्संक्रामक के रूप में ओजोन

ओजोन एक ऑक्सीकरण यौगिक है जो तेजी से कार्बनिक पदार्थों, मैंगनीज, लोहा आदि का ऑक्सीकरण करता है। ओजोन अत्यधिक अस्थिर है और 15 से 20 सेकंड के भीतर ऑक्सीजन बनाने के लिए ऑक्सीकरण करती है। ओजोन की इस संपत्ति का उपयोग कीटाणुशोधन में किया जाता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,