भारतीय वायु सेना द्वारा अपने सबसे बड़े सैन्य अभ्यास गगन शक्ति का आयोजन किया जायेगा

8-22 अप्रैल तक भारतीय वायु सेना द्वारा अपने सबसे बड़े सैन्य अभ्यास गगन शक्ति का आयोजन किया जायेगा। पाकिस्तान और चीन से भारत को बढ़ते सुरक्षा खतरों के मद्देनज़र दो मोर्चों अर्थात् उतरी और पश्चिमी सीमा पर यह अभ्यास किया जाएगा।

मुख्य तथ्य

o पश्चिमी सीमा पर तैनात बलों द्वारा गगन शक्ति अभ्यास के पहले चरण में अभ्यास किया जाएगा, जबकि दूसरे चरण में उत्तरी सीमा पर अभ्यास किया जाएगा।
o 20 हज़ार फीट की ऊँचाई से लेकर गर्म मरुस्थलीय क्षेत्र सहित समुद्री भाग में भी यह अभ्यास किया जाएगा। 1100 से अधिक विमानों सहित वायुसेना के 300 अधिकारी और 15,000 से अधिक सैनिक इस अभ्यास में शामिल होंगे।
o नौसेना और थलसेना भी इस अभ्यास में भाग लेंगे। स्वदेशी लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस के साथ ही भारतीय नौसेना का मिग 29 लड़ाकू विमान भी इस अभ्यास में हिस्सा लेगा।
o लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस अभ्यास के दौरान आक्रामक और रक्षात्मक दोनों तरह की भूमिकाएँ निष्पादित करेगा।
o इस अभ्यास में हाल ही में वायुसेना में फाइटर पायलट बनीं तीन महिलाएँ लेफ्टिनेंट अवनी चतुर्वेदी, मोहना सिंह और भावना कांत भी शामिल होंगी।
o गुजरात के भुज से विमान अभ्यास के दौरान असम की ओर उड़ान भरेंगे और बमबारी करेंगे तथा असम से विमान राजस्थान के रेगिस्तान की ओर बमबारी को अंजाम देंगे। इसके अतिरिक्त सैनिकों की टुकड़ी और सैन्य साजो-सामान का इंटर-वैली ट्रांसफर भी होगा।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,