भारत और जापान ने बुलेट ट्रेन फण्ड के लिए ऋण समझौते पर किये हस्ताक्षर

भारत ने जापान इंटरनेशनल को-ऑपरेशन एजेंसी के साथ दो ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं, यह समझौते मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट और कलकत्ता ईस्ट वेस्ट मेट्रो प्रोजेक्ट के निर्माण के लिए किये गये हैं। इन समझौतों के तहत जापान भारत को मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए 5500 करोड़ तथा कलकत्ता ईस्ट-वेस्ट मेट्रो प्रोजेक्ट के लिए 1619 करोड़ रुपये की पहली किश्त आधिकारिक विकास सहायता ऋण स्वरुप देगा।

मुख्य बिंदु

मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट (I) : इसका उद्देश्य जापानी हाई स्पीड रेल टेक्नोलॉजी का उपयोग करके मुंबई और अहमदाबाद के बीच बड़ी जनसँख्या के लिए  परिवहन प्रणाली विकसित करना है। इससे भारत में कनेक्टिविटी में सुधार होगा। यह भारत का पहला हाई स्पीड प्रोजेक्ट (बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट) है।

कलकत्ता ईस्ट वेस्ट मेट्रो प्रोजेक्ट (III) : इसका उद्देश्य व्यापक स्तर पर तीव्र परिवहन को बढ़ावा देकर कलकत्ता में ट्रैफिक का समाधान करना है। इससे वाहनों द्वारा उत्पन्न प्रदूषण में कमी तथा ट्रैफिक जाम से सभी छुटकारा मिलेगा।

महत्व

भारत और जापान के बीच 1958 के बाद काफी सफल द्विपक्षीय विकास सहयोग का इतिहास रहा है। पिछले कुछ वर्षों में दोनों देशों के बीच आर्थिक सहयोग में काफी मजबूती से वृद्धि हुई है। इससे भारत और जापान के बीच सामरिक व वैश्विक साझेदारी और सुदृढ़ होगी।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,