भारत और सिंगापुर के बीच किया जा रहा है नौसैनिक अभ्यास “SIMBEX-19” का आयोजन

SIMBEX-19 (Singapore India Maritime Bilateral Exercise) नौसैनिक अभ्यास का आयोजन भारत तथा सिंगापुर के बीच दक्षिण चीन सागर में किया जा रहा है। इसका आरम्भ 16 मई को हुआ। इस नौसैनिक ड्रिल में एडवांस्ड हवाई ट्रैकिंग तथा वेपन फायरिंग इत्यादि का अभ्यास किया जायेगा। इस अभ्यास का उद्देश्य भारत और सिंगापुर के बीच समुद्री, आर्थिक तथा सांस्कृतिक गतिविधियों के द्वारा मैत्रीपूर्ण संबंधों को मज़बूत बनाना है।

इस अभ्यास का आयोजन दो चरणों में किया जा रहा है:

बंदरगाह चरण : इसका आयोजन 16 से 18 मई के बीच किया गया। इस दौरान पारंपरिक गतिविधियाँ आयोजित की गयी। इसमें सिम्युलेटर बेस्ड युद्ध प्रशिक्षण तथा आईएनएस कोलकाता पर खेल स्पर्धाओं का आयोजन किया गया।

समुद्री चरण : इसका आयोजन 19 मई से 22 मई के बीच किया जा रहा है। इस चरण का आयोजन पूर्व चीन सागर में किया जा रहा है। इसमें एडवांस्ड एरियल ट्रैकिंग, हवाई तथा सतही टारगेट पर फायरिंग, रणनीतिक अभ्यास किया जाएगा।

इस अभ्यास में भारत की ओर से आईएनएस कोलकाता तथा शक्ति, लम्बी रेंज वाला समुद्री गश्ती एयरक्राफ्ट P8I हिस्सा ले रहे हैं। सिंगापुर की ओर से इस अभ्यास में RSN स्टेडफ़ास्ट, RSN वेलियेंट, समुद्री गश्ती एयरक्राफ्ट फोक्कर-50 तथा F-16 लड़ाकू विमान हिस्सा ले रहे हैं।

SIMBEX

SIMBEX अभ्यास की शुरुआत 1993 में हुई थी, तत्पश्चात यह एक वार्षिक इवेंट बन गया। अब यह एक महत्वपूर्ण नौसैनिक अभ्यास है। इस अभ्यास में हवा तथा सतह से होने वाले हमलों के लिए अभ्यास किया जाता है। इसमें हवाई रक्षा ऑपरेशन तथा एडवांस्ड रणनीतिक  अभ्यास का आयोजन किया जाता है। भारत और सिंगापुर ने दोनों नौसेनाओं के बीच समुद्री सहयोग को बढ़ावा देने के लिए सहमती प्रकट की है। इससे दोनों देशों के मैत्रीपूर्ण सम्बन्ध और भी मज़बूत बनेंगे।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,