भारत ने मेड्रिड जलवायु सम्मेलन में हिस्सा लिया

केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने मेड्रिड जलवायु सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व किया। संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मलेन का आयोजन मेड्रिड में 2 दिसम्बर से 13 दिसम्बर, 2019 के दौरान किया जा रहा है। COP25 (कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज) का आयोजन पहले चिली में किया जाना था, परन्तु चिली में जारी विरोध प्रदर्शन के कारण इस इवेंट को स्पेन में आयोजित किया गया।

मुख्य बिंदु

इस सम्मेलन में सदस्य देशों को NDC (Nationally Determined Contributions) को अगले एक वर्ष में बढाने के लिए कहा गया है। इसके अलावा महासागर पर “Special Report on the Ocean and Cryosphere in a Changing Climate” (SPROCC) नामक रिपोर्ट जारी की गयी है। इस रिपोर्ट के अनुसार 1901-1990 के दौरान औसत समुद्र स्तर में 1.4 मिलीमीटर की वृद्धि हुई थी, जबकि 2006-2015 के दौरान इसमें 3.6 मिलीमीटर की वृद्धि हुई है।

कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज क्या है?

कांफ्रेंस ऑफ़ पार्टीज संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UNFCCC) की सर्वोच्च निर्णय निर्माता संस्था है। यदि कोई देश सत्र की मेजबानी की पेशकश नहीं करता है तो सत्र की मेजबानी बोन (UNFCCC के सचिवालय) में की जाती है। पहली COP बैठक का आयोजन मार्च 1995 में जर्मनी के बर्लिन में किया गया था।

इस सम्मेलन में कन्वेंशन के क्रियान्वयन की समीक्षा की जाती है। COP की अध्यक्षता बारी-बारी से पांच मान्यता प्राप्त क्षेत्रों (एशियाई, मध्य व पूर्वी यूरोप, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, कैरिबियन तथा पश्चिमी यूरोप इत्यादि) के द्वारा की जाती है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,