भारत ने 4 अन्य परमाणु सयंत्र IAEA की निगरानी में रखने की घोषणा की

भारत ने 4 परमाणु सयंत्रों को अंतर्राष्ट्रीय परमाणु उर्जा एजेंसी (IAEA) की निगरानी में रखने के फैसला किया है। इसकी घोषणा परमाणु उर्जा विभाग के अध्यक्ष शेखर बासु ने 19 सितम्बर, 2018 को की। इन चार सयंत्रों में दो रूसी डिजाईन के प्रेशराइज़ड लाइट वाटर रिएक्टर तथा दो प्रेशराइज़ड हैवी रिएक्टर हैं। इसके साथ ही IAEA की निगरानी में कुल सयंत्रों को संख्या 26 हो जाएगी।

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु उर्जा एजेंसी (IAEA)

यह एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है, इसका उद्देश्य परमाणु उर्जा के शांतिप्रिय कार्यों के लिए उपयोग को बढ़ावा देना है। इसकी स्थापना 1957 में एक स्वायत्त संस्था के रूप में की गयी थी। इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में स्थित है। यह अंतर्राष्ट्रीय परमाणु उर्जा के लिए वाचडॉग के रूप में कार्य करती है। हालांकि यह संयुक्त राष्ट्र से स्वतंत्र है परन्तु यह संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद् को अपनी रिपोर्ट देती है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,