भारत, पाकिस्तान ने एक दूसरे को सौंपी कैदियों की सूची

भारत और पाकिस्तान ने एक दूसरे की जेल में कैद नागरिक कैदियों और मछुआरों की सूचियों का आदान-प्रदान किया है. सूची मई 2008 में दोनों देशों के बीच हस्ताक्षरित द्विपक्षीय समझौते के प्रावधान के अनुसार साझा की गई थी. इस समझौते के अनुसार 1 जनवरी तथा 1 जुलाई को कैदियों की सूचि हर साल दो बार आदान-प्रदान की जानी चाहिए.

मुख्य तथ्य

नवीनतम साझा की गयी सूची में, पाकिस्तान ने बंदी बनाए गए 53 नागरिक कैदियों और 418 मछुआरों के नाम सौंपे जो भारतीय हैं. जबकि भारत ने भारतीय जेलों में कैद पाकिस्तान के 249 नागरिक कैदियों और 108 मछुआरों की सूची सौंपी. भारत सरकार ने पाकिस्तान में कैद 9 भारतीय नागरिकों तथा 229 मछुआरों, जिनकी सजा पूरी हो चुकी है और उनकी राष्ट्रीयता की पहचान भी की जा चुकी है उन सभी लोगों की तत्काल रिहाई को कहा है. तथा यह भी मांग की गयी है कि भारतीय चिकित्सक विशेषज्ञ टीम को पाकिस्तान का दौरा करने के लिए अनुमत किया जाए ताकि वे मानसिक रूप से बीमार कैदियों से भी मुलाकात कर सकें. विदेश मंत्रालय ने कहा कि मानवीय मुद्दों और खासतौर पर बुजुर्गों, महिलाओं और मानसिक रूप से अस्वस्थ कैदियों के मामलों को सुलझाने के लिए भारत ने पुनर्निर्मित संयुक्त न्यायिक समिति का विवरण भी साझा किया है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,