भारत-विश्व बैंक : सामाजिक सुरक्षा प्रतिक्रिया कार्यक्रम

विश्व बैंक और भारत सरकार ने हाल ही में 750 मिलियन डालर के समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। विश्व बैंक ने भारत के COVID-19 सामाजिक सुरक्षा प्रतिक्रिया कार्यक्रम में तेजी लाने के लिए 1 बिलियन डालर की सहायता का आश्वासन दिया है। इसका उद्देश्य COVID-19 महामारी के कारण प्रभावित होने वाले कमजोर परिवारों की रक्षा करना है।

मुख्य बिंदु

सामाजिक सुरक्षा प्रतिक्रिया कार्यक्रम वित्त मंत्रालय द्वारा लागू किया जायेगा। इस कार्यक्रम ने भारत के प्रति विश्व बैंक की कुल प्रतिबद्धता को 1 बिलियन डालर से बढ़ाकर 2 बिलियन डालर कर दिया है। विश्व बैंक ने अप्रैल, 2020 में 1 बिलियन अमरीकी डालर के वित्तीय समर्थन की घोषणा की थी।

कार्यक्रम के बारे में

इस कार्यक्रम को दो चरणों में लागू किया जायेगा। पहले चरण में प्रधान मत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से कार्यक्रम को लागू किया जाएगा। इसमें PM-KISAN के तहत नकद लाभ, उज्जवला योजना के तहत मुफ्त सिलेंडर, अतिरिक्त खाद्यान्न आपूर्ति और सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्यान्न की मुफ्त आपूर्ति शामिल है। साथ ही महिलाओं के जनधन खातों में भी नकदी डाली गई।

दूसरे चरण के दौरान, अतिरिक्त नकदी सामाजिक सुरक्षा वितरण प्रणालियों के माध्यम से जमा की जाएगी। यह स्थानीय जरूरतों पर केंद्रित है।

भारत सरकार ने हाल ही में आत्म निर्भर भारत अभियान शुरू किया है जिसके तहत COVID-19 के खिलाफ लड़ने के लिए और लोगों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,