मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने ई-सनद पोर्टल और राष्ट्रीय अकादमिक डिपॉजिटरी के एकीकरण का कार्य शुरू किया

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) ने भारत में शिक्षा प्रणाली को और अधिक पारदर्शी बनाने के लिए ई-सनद पोर्टल और राष्ट्रीय शैक्षिक (अकादमिक) डिपोजिटरी के एकीकरण का कार्य शुरू किया है।

ई-सनद

o इसे शुरू करने का उद्देश्य भारत के साथ-साथ विदेशों में भारतीय आवेदकों को संपर्क रहित, कैश रहित और पेपर रहित दस्तावेजों के ऑनलाइन सत्यापन की सुविधा उपलब्ध करवाना है।
o इस कार्यक्रम के माध्यम से आवेदक ऑनलाइन भी आवेदन दाखिल कर सकते हैं।
o राष्ट्रीय सूचना केंद्र (एनआईसी) चरणबद्ध तरीके से सीबीएसई, राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों और विदेश मामलों के मंत्रालय के साथ समन्वय कर रहा है ।

राष्ट्रीय अकादमिक डिपॉजिटरी

यह सभी शैक्षिक पुरस्कारों तथा उपाधियों का 24X7 ऑनलाइन स्टोर हाउस है। डिप्लोमा सर्टिफिकेट, डिग्री, मार्क शीट इत्यादि विधिवत डिजिटलीकृत और अकादमिक बोर्ड, संस्थानों, पात्रता मूल्यांकन निकायों द्वारा इसमें दर्ज की गई है । यह अकादमिक पुरस्कारों तथा उपाधियों की आसान पहुंच तथा पुनर्प्राप्ति सुनिश्चित करता है इसके आलावा इनकी प्रामाणिकता और सुरक्षित भंडारण की गारंटी देता है। एनएडी में दो इंटरऑपरेबल डिजिटल डिपॉजिटरीज शामिल हैं एनएसडीएल डाटाबेस मैनेजमेंट लिमिटेड (एनडीएमएल) और सीडीएसएल वेंचर्स लिमिटेड (सीवीएल)। इन डिजिटल डिपॉजिटरीज ने राष्ट्रीय अकादमिक डिपॉजिटरी के सुरक्षित परिचालन के लिए हार्डवेयर, नेटवर्क सुविधाएं और निर्धारित गुणवत्ता के सॉफ्टवेयर सुनिश्चित किए हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,