मौसम की सटीक जानकारी हासिल करने के लिए आरएच-300 ध्वनि रॉकेट को प्रक्षेपित किया गया

भारत ने मौसम की सटीक जानकारी हासिल करने के लिए 06 अप्रैल 2018 को एक महत्वपूर्ण रॉकेट लॉन्च किया. विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र द्वारा विकसित केरल के थुम्बा इक्वाटोरियल रॉकेट लॉन्चिंग स्टेशन से आरएच-300 ध्वनि रॉकेट को प्रक्षेपित किया गया.

इसे अंतरिक्ष में रॉकेट इक्वेटोरियल लॉन्चिंग स्टेशन (टीइआरएलएस) से भेजा गया है. मौसम की इससे सटीक जानकारी मिल सकेगी तथा वायुमंडल की निचली सतह पर होने वाली उथल पुथल का सटीक अनुमान लगाया जा सकेगा. इस तरह का अध्ययन सेंटर ने पहले से शुरू कर रखा है. आरएच 300 एमके 2 रॉकेट के जरिये इसके तहत आंकड़े जुटाए जा रहे हैं.

मुख्य उद्देश्य

• लंबी,मध्यम और लघु अवधि के भूमध्य रेखा तरंग मोड की विशेषताएं और प्रसार को मापना.
• भारतीय गर्मियों में मानसून और मध्य वायुमंडलीय मौसमी पवन दोलन के साथ इसका संबंध जांचना.
• लंबी अवधि के तरंगों के प्रभाव का औसत प्रवाह, गुरुत्वाकर्षण तरंग-ज्वार-ग्रहों गहरे उष्णकटिबंधीय संवहन के संबंध में और क्षोभमंडलीय कम दबाव प्रणाली के चरणों के दौरान मध्य वायुमंडलीय विभिन्नता का अध्ययन करना.

आरएच 300 ध्वनि रॉकेट का यह 21वां प्रक्षेपण है. वातावरण संबंधी अध्ययन करने के लिए वर्ष 1960 में विदेशी रॉकेट की सहायता ली गई थी. 2 मई 1965 में पहली बार स्वदेशी रॉकेट का इस्तेमाल किया गया. वर्तमान में स्वदेशी रॉकेट एवं पेलोड लॉन्च किया जा रहा है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,