यूरोपियन यूनियन ने लगाया गूगल पर 4.34 अरब यूरो का जुर्माना

यूरोपियन यूनियन ने अमेरिकी टेक्नोलॉजी कंपनी गूगल पर 4.34 अरब यूरो (34,230 करोड़ रूपए) का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना गूगल पर ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्रायड का उपयोग गलत ढंग प्रतिद्वंदियों को पछाड़ने के लिए लगाया गया।

मुख्य बिंदु

चूंकि गूगल एंड्रायड ऑपरेटिंग सिस्टम का मालिक है, इसलिए गूगल ने मोबाइल फ़ोन निर्माता कंपनियों को अपने फ़ोन में गूगल क्रोम ब्राउज़र और गूगल सर्च एप्प प्री-इनस्टॉल करना आवश्यक कर दिया। इसके अलावा गूगल ने निर्माताओं को डिवाइस में एंड्राइड विकल्प इनस्टॉल करने से रोका। विश्व के 80% मोबाइल गूगल के एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलते हैं। इस जुर्माने के बाद गूगल को बदलाव करने के लिए 90 दिन का समय दिया गया है।

टिपण्णी

गूगल से पहले और भी कई कंपनियों पर भारी भरकम फाइन लगाये गए हैं। 2008 में माइक्रोसॉफ्ट पर 899 मिलियन यूरो (7,176 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया था। वर्ष 2009 में इंटेल पर 1.06 अरब यूरो (8,461 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया था। 2013 में माइक्रोसॉफ्ट पर 561 मिलियन यूरो (4,478 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया था। वर्ष 2017 में फेसबुक पर 110 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाया गया था। इसके अतिरिक्त 2017 में गूगल पर 2.42 अरब यूरो (19,318 अरब डॉलर) का जुर्माना लगाया गया था।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , ,