राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को क्लीयरेंस दी

राष्ट्रीय वन्यजीव बोर्ड ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को क्लीयरेंस दे दी है। मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना ठाणे क्रीक फ्लेमिंग वन्यजीव अभ्यारण्य तथा संजय गाँधी राष्ट्रीय उद्यान से होकर गुजरेगी। मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना भारत की पहली हाई स्पीड रेल लाइन होगी, इस कॉरिडोर के कार्य का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा जापानी प्रधानमंत्री शिन्जों आबे ने किया था। यह कॉरिडोर 2022 तक तैयार हो जायेगा।

क्लीयरेंस के लिए वन्यजीव अभ्यारण्य में प्राकृतिक आवास के सुधार के लिए 10 करोड़ रुपये जमा करने होंगे तथा यह भी सुनिश्चित करना होगा कि परियोजना क्षेत्र के बाहर कचरा न फैले। इस परियोजना के दौरान जितने मैन्ग्रोव पौधे नष्ट होंगे, उससे 5 गुना अधिक पौधों का पौधरोपण करना पड़ेगा।

मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट

इस परियोजना की लागत लगभग एक खरब रुपये आएगी, इस हाई स्पीड रेल ट्रैक की लम्बाई 508 किलोमीटर होगी। यह ट्रैक मुंबई में बांद्रा कुर्ला काम्प्लेक्स से शुरू होकर गुजरात में साबरमती पर समाप्त होगा। इस ट्रैक की कुल लम्बाई में से 155.64 किलोमीटर महाराष्ट्र में, 4.3 किलोमीटर दादरा व नगर हवेली तथा 348.2 किलोमीटर लम्बाई गुजरात में स्थित होगी। यह गुजरात के अहमदाबाद, खेड़ा, आनंद, वडोदरा, भरूच, सूरत, नवसारी तथा वलसाड जिलों से होकर गुजरेगी।

इसका उद्देश्य जापानी हाई स्पीड रेल टेक्नोलॉजी का उपयोग करके मुंबई और अहमदाबाद के बीच बड़ी जनसँख्या के लिए  परिवहन प्रणाली विकसित करना है। इससे भारत में कनेक्टिविटी में सुधार होगा। यह भारत का पहला हाई स्पीड प्रोजेक्ट (बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट) है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , ,