रेलवे में अब नई भर्तियाँ संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से की जायेगी

रेलवे बोर्ड ने नई भर्तियाँ संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से करने का निर्णय लिया है। हाल ही में केन्द्रीय कैबिनेट ने रेलवे में आठ कैडर और विभाग का विलय Indian Railway Management Service (IRMS) में कर दिया था।

मुख्य बदलाव

अब संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के अभ्यर्थियों की तरह उम्मीदवारों को UPSC प्रीलिम्स परीक्षा में हिस्सा लेना होगा। इसके बाद उम्मीदवार को IRMS में पांच विशेषज्ञताओं में प्राथमिकता को चुनना होगा।

इसके अलावा अब से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन भारतीय रेल सेवा का अधिकारी होगा, अन्य सेवाओं से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन की नियुक्ति नहीं की जायेगी। भारतीय रेलवे के उस अधिकारी को चेयरमैन/सीईओ नियुक्त किया जाएगा जिसके पास 35 वर्ष का अनुभव है।

रेलवे बोर्ड का संघटन

रेलवे बोर्ड में चेयरमैन के अलावा चार सदस्य होंगे, जो अधोसंरचना, परिचालन, वित्त इत्यादि के लिए ज़िम्मेदार होंगे। बोर्ड में कुछ एक स्वंतंत्र गैर-कार्यकारी सदस्य भी होंगे। वे वित्त, अर्थशास्त्र तथा प्रबंधन इत्यादि क्षेत्रों से होंगे जिनके पास कम से कम 30 वर्ष का प्रोफेशनल अनुभव होगा।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,