लद्दाख में किया गया खाद्य प्रसंस्करण शिखर सम्मेलन का आयोजन

16 जनवरी, 2020 को लद्दाख में केन्द्रीय खाद्य प्रसंकरण उद्योग मंत्रालय के अधीन उद्योग व वाणिज्य विभाग ने खाद्य प्रसंस्करण शिखर सम्मेलन का आयोजन किया। इसके अन्य हितधारक इन्वेस्ट इंडिया और राष्ट्रीय निवेश प्रोत्साहन व प्रसुविधा एजेंसी  भी इसमें शामिल थे।

मुख्य बिंदु

इस शिखर सम्मेलन में लद्दाख के खाद्यान्न उत्पादकों ने हिस्सा लिया, इसमें दूध, जौ, मांस, जैविक सब्जी, सेब इत्यादि के उत्पादक शामिल थे। इस शिखर सम्मेलन में Ladakh Action Plan for Food Processing प्रस्तुत किया गया।

इस शिखर सम्मेलन में खाद्य प्रसंस्करण की चैन मैपिंग पर बल दिया गया तथा स्थानीय जनसँख्या में कृषि व खाद्य प्रसंस्करण में जोड़ने पर चर्चा की गयी। इसमें मुख्य रूप से लेह और कारगिल क्षेत्र पर फोकस किया गया।

मौजूदा स्थिति

हालांकि लद्दाख में अनाज, सब्जी इत्यादि के उत्पादन की काफी क्षमता है, परन्तु लद्दाख में कृषि काफी कम की जाती है। कृषि की जगह पर्यटन ही आजीविका का प्रमुख साधन बन गया है। कृषि में लोगों का रुझान कम होने के अन्य कारण कृषि के उचित समय का कम होना तथा उत्पादन का कम होना है।

सरकार द्वारा उठाये गये कदम

  • भारत सरकार लद्दाख में कृषि को बढ़ावा देने के लिए ग्रीन हाउस, पोल्ट्री फार्मिंग जैसे विकल्प उपलब्ध करवा रही है।
  • लद्दाख में फसल की नवीनतम व उच्च उत्पादन वाली प्रजातियाँ मुहैया करवाई गयी हैं, इसके अलावा जैविक कृषि पर बल दिया जा रहा है।
  • केंद्र सरकार लद्दाख  के किसानों को कृषि उत्पादन बढाने के लिए शीत ऋतू तकनीक अपनाने के लिये प्रेरित कर रही है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,