वायु सेना में शामिल हुआ भारत में परिवर्तित पहला सुखोई लड़ाकू विमान

हाल ही में भारत में परिवर्तित (overhaul) सुखोई-30 MKI लड़ाकू विमान को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया, इस लड़ाकू विमान को पुणे के वायु सेना बेस में तैनात किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

सुखोई-30 MKI लड़ाकू विमान को ओझर के बेस रिपेयर डिपो में भारतीय वायुसेना को सौंपा गया, इसके लिए नासिक के ओझर वायुसेना बेस में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।  एयर मार्शल हेमंत शर्मा (मेंटेनेंस कमांड के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ) ने इस विमान को एयर मार्शल एच. एस. अरोड़ा (दक्षिण पश्चिमी वायु कमान के एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ) को सौंपा। इस एयरक्राफ्ट को पुणे के लोहेगाँव में तैनात किया जायेगा, यहाँ पर सुखोई 30 दो अन्य स्क्वाड्रन – 20 स्क्वाड्रन (अन्य नाम लाइटनिंग्स) तथा 30 स्क्वाड्रन (अन्य नाम राइनोज) भी तैनात है।

सुखोई-30 का विकास रूस ने किया था, भारत में हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड ने ओझर में लाइसेंस के तहत इसका निर्माण किया जाता है। ओझर में इस सुखोई विमान के सभी कल-पुर्जों को खोला गया तथा इसके सभी पुराने पुर्जों को बदला गया। इस एयरक्राफ्ट के सभी हिस्सों की गहनता से जांच की गयी। इस प्रक्रिया को overhaul कहा जाता है, इस प्रक्रिया से विमान लगभग नया जैसा ही बन जाता है और इसकी जीवन अवधि भी काफी अधिक बढ़ जाती है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , , , ,