विश्व सुनामी जागरूकता दिवस : 5 नवम्बर

5 नवम्बर को प्रतिवर्ष विश्व सुनामी जागरूकता दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसका उद्देश्य विश्व भर में सुनामी के बारे में जागरूकता फैलाना है। यह विश्व सुनामी जागरूकता दिवस का तीसरा संस्करण है, इस दिवस की स्थापना 2015 में की गयी थी। इसके द्वारा विश्व भर में सुनामी के खतरे के बारे में जागरूकता फैलाना है। इस दिवस पर सुनामी की पूर्व चेतावनी प्रणाली के महत्व पर बल दिया जाता है।

मुख्य बिंदु

विश्व सुनामी जागरूकता दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा दिसम्बर 2015 में प्रस्ताव पारित करके की गयी थी। इस प्रस्ताव को जापान द्वारा मार्च 2015 में सेंडाई (जापान) में तीसरे आपदा निम्नीकरण सम्मेलन के बाद प्रस्तुत किया गया था।

सुनामी

सुनामी समुद्र की बड़ी लहरें होती हैं जो समुद्र के तट में हलचल के कारण उत्पन्न होती हैं। यह घटनाएँ आमतौर पर ज्वालामुखी उद्गार तथा भूकंप के कारण होती हैं। सुनामी एक जापानी शब्द है, सु का अर्थ बंदरगाह तथा नामी का अर्थ लहर होता है। इसके अतिरिक्त जलमग्न भूस्खलन, तटीय चट्टानों तथा बाह्य टकराव के कारण भी सुनामी उत्पन्न हो सकती हैं। हालांकि अन्य आपदाओं की भाँती सुनामी का अनुमान लगाना मुश्किल है, परन्तु भूकंपीय गतिविधियों की सहायता से सुनामी का पूर्वानुमान लगाया जा सकता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,