विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 2020 के लिए वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की सूची जारी की

प्रतिवर्ष विश्व स्वास्थ्य संगठन आने वाले वर्ष के लिए वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की सूची जारी करता है, इस वर्ष 13 जनवरी को प्रमुख वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों की सूची जारी की गयी।

वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियाँ

इस सूची में 13 संभावित चनौतियों को शामिल किया गया है। इस चुनौतियों में से एंटी-माइक्रोबियल रेजिस्टेंस (AMR) तथा जलवायु संकट सबसे प्रमुख है। यह दो चुनौतियाँ पिछले वर्ष से शीर्ष पर चल रही हैं। रिपोर्ट के मुताबिक जलवायु परिवर्तन के कारण 7 मिलियन लोग प्रभावित होते हैं। जलवायु परिवर्तन के कारण कुपोषण में वृद्धि हुई तथा मलेरिया जैसे संक्रामक रोग में प्रसार में वृद्धि हुई है। इस सूची में अन्य प्रमुख चुनौतियाँ हैं : इन्फ़्लुएन्ज़ा महामारी, HIV, मलेरिया और ट्यूबरक्लोसिस इत्यादि।

एक चौथाई से अधिक मौतें स्ट्रोक, हार्ट अटैक, चिरकालीन श्वसन रोग तथा फेफड़े के कैंसर के कारण होती हैं। वायु प्रदूषण के कारण इन बीमारियों के होने के खतरा भी बढ़ जाता है।

इस सूची में शामिल एक नई चुनौती है ‘पहुँच की कमी’। इस रिपोर्ट के मुताबिक विश्व की एक तिहाई जनसँख्या के पास टीके, डायग्नोस्टिक उपकरण, दवा तथा अन्य स्वास्थ्य उत्पादों तक पहुँच नई है।

हेल्थ वर्कर्स की कमी एक बड़ी वैश्विक स्वास्थ्य समस्या है, विश्व स्वास्थ्य संगठन एक अनुसार 2030 तक 18 मिलियन और हेल्थ वर्कर्स की आवश्यकता है।

इस सूची में शामिल अन्य स्वास्थ्य संबंधति चुनौतियाँ भोजन की कमी, अस्वस्थ डाइट, इत्यादि हैं। इस सूची में सोशल मीडिया को भी शामिल किया गया है, सोशल मीडिया के द्वारा रोगों के बारे में कई प्रकार की असत्य जानकारी का प्रचार-प्रसार होता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , ,