वैज्ञानिकों ने मानव शरीर में एक नए अंग ‘इंटरस्टिटियम’ की खोज की

मानव शरीर में एक नए अंग ‘इंटरस्टिटियम’ की खोज वैज्ञानिकों ने की है. वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि मनुष्य के शरीर में इस नई खोज की मदद से कैंसर कैसे फैलता है इसे आसानी से समझा जा सकेगा. साइंटिफिक रिपोर्ट्स जर्नल में इंसान के शरीर के नए अंग के बारे में लेख प्रकाशित हुआ है. रिसर्च में ये भी दावा किया जा रहा है कि हर इंसान के शरीर में ये अंग मौजूद है.मानव शरीर में कैंसर कैसे फैलता है इस बात की जांच माउंड सिनाइ बेथ इजरायल मेडिकल सेंटर मेडिक्स के डॉ डेविड कार-लॉक और डॉ पेट्रोस बेनियास कर रहे थे जांच के दौरान उनकी नजर इस विशेष टिश्यूज पर पड़ी जिसे उन्होंने इंटरस्टिटियम का नाम दिया. इंटरस्टिटियम को शरीर के बड़े अंगों में से एक माना जा रहा है. वैज्ञानिकों का ऐसा दावा है कि इसकी मदद से कैंसर के लिए एक नए टेस्ट को डेवलप करने में मदद मिलेगी.

इंटरस्टिटियम

यह इंसान के शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है. ये सिर्फ स्कीन में ही नहीं, बल्कि फेफड़े, आंत, रक्त नलिका और मांसपेशियों के नीचे भी मिलते हैं. ये काफी लचीले होते हैं, प्रोटीन की मोटी लेयर इनके अंदर होती है. वैज्ञानिकों के अनुसार ‘इंटरस्टीशियम’ शरीर के टीशूज के बचाव का काम करते हैं.

पृष्ठभूमि:

गौरतलब है कि सदियों से मानव शरीर का अध्ययन किया जाता रहा है. अब तक यही माना जाता था कि मानव शरीर में कुल 79 अंग होते हैं. यह बात बहुत ही आश्चर्यजनक है कि अभी तक हम इस सबसे बड़े अंग इंटरस्टिटियम से अंजान रहे है.

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,