श्रीलंका और मालदीव डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में रुबेला और मीज़ल्स दोनों को खत्म करने वाले पहले दो देश बन गए

जिनेवा बेस्ड विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के 8 जुलाई, 2020 को घोषणा की है कि श्रीलंका और मालदीव रूबेला वायरस को समाप्त कर दिया है। इसके साथ, श्रीलंका और मालदीव डब्ल्यूएचओ के दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र से पहले दो देश बन गए जिन्होंने मीज़ल्स और रूबेला वायरस दोनों को सफलतापूर्वक समाप्त कर दिया है।

खसरा वायरस को क्षेत्र से 5 देशों द्वारा समाप्त किया गया

2017-18 में, भूटान, तिमोर-लेस्ते, उत्तर कोरिया और मालदीव दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र डब्ल्यूएचओ के चार देश थे जो मीज़ल्स वायरस को सफलतापूर्वक समाप्त चुके थे। जुलाई 2019 में, खसरा को खत्म करने के लिए श्रीलंका डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र से तीसरा राष्ट्र बन गया।

डब्ल्यूएचओ द्वारा दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र से खसरा को खत्म करने के लिए निर्धारित लक्ष्य वर्ष 2023 था।

रूबेला वायरस को क्षेत्र के 2 देशों द्वारा समाप्त किया गया

डब्ल्यूएचओ के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र से रूबेला को समाप्त करने वाले श्रीलंका और मालदीव पहले दो देश हैं। डब्ल्यूएचओ द्वारा दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र से रूबेला वायरस को खत्म करने के लिए निर्धारित लक्ष्य वर्ष 2023 है।

डब्ल्यूएचओ दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र

WHO के दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में कुल 11 देश हैं। वे भारत, श्रीलंका, भूटान, बांग्लादेश, थाईलैंड, मालदीव, म्यांमार, उत्तर कोरिया, तिमोर-लेस्ते, इंडोनेशिया और नेपाल हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,