सतलज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) लिमिटेड ने ऊर्जा मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

सतलज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) लिमिटेड ने वर्ष 2018-19 के लिए 9200 मिलियन यूनिट बनाने के लिए ऊर्जा मंत्रालय के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। नई दिल्ली में विद्युत सचिव अजय कुमार भल्ला और एसजेवीएन चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) नंद लाल शर्मा ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

मुख्य तथ्य

समझौता ज्ञापन में निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार, वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान सतलज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) लिमिटेड ‘उत्कृष्ट’ श्रेणी के तहत 9200 मिलियन यूनिट उत्पादन प्राप्त करेगा। इसके अलावा, सतलज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) लिमिटेड के पास 900 करोड़ रुपये का पूंजी व्यय का लक्ष्य होगा इसके आलावा परिचालन दक्षता तथा परियोजना निगरानी से संबंधित अन्य लक्ष्यों के साथ 2175 करोड़ रुपये के टर्नओवर का लक्ष्य होगा।

सतलज जल विद्युत निगम (एसजेवीएन) लिमिटेड

यह बिजली मंत्रालय के तहत एक मिनी रत्न तथा अनुसूची ‘ए’ के तहत केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम (सीपीएसयू) है। यह केंद्र सरकार (64.46% शेयर) तथा हिमाचल प्रदेश सरकार (25.51% शेयर) के बीच का संयुक्त उद्यम है। इसे 1988 में स्थापित किया गया था। इसका मुख्यालय शिमला, हिमाचल प्रदेश में है। इसकी वर्तमान उर्जा उत्पादन क्षमता 1,964 मेगावाट है

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , , ,