समुद्रयान प्रोजेक्ट : NIOT गहरे सागर में खोज के लिए लांच करेगा मिशन

राष्ट्रीय महासागर तकनीक संस्थान (NIOT) 2021-22 तक “समुद्रयान प्रोजेक्ट” को लांच करेगा, इस मिशन के तहत गहरे महासगर में खोज कार्य किया जाएगा। ये केन्द्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय का पायलट प्रोजेक्ट है,  गहरे महासागर में खोज कार्य के लिए 6000 करोड़ रुपये व्यय करने की योजना बनायी गयी है।

समुद्रयान प्रोजेक्ट

इस प्रोजेक्ट के तहत एक स्वदेशी निर्मित जलमग्न वाहन का विकास किया जायेगा, इस जलमग्न वाहन में तीन लोग समुद्र में 6000 मीटर की गहराई तक शोधकार्य करने जायेंगे। यह कार्य राष्ट्रीय महासागर तकनीक संस्थान (NIOT), चेन्नई द्वारा किया जाएगा। गौरतलब है कि समुद्रयान प्रोजेक्ट इसरो के गगनयान प्रोजेक्ट की तर्ज पर शुरू किया गया है। इस परियोजना पर 200 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।

यदि यह मिशन सफल रहता है तो भारत उन चुनिन्दा विकसित देशों की श्रेणी में शामिल हो जायेगा जो गहरे सागर में खनिजों की खोज का कार्य करते हैं। अब तक केवल विकसित देशों ने ही यह कार्य किया है, भारत इस कार्य को करने वाला विश्व का पहला विकासशील देश बन सकता है।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,