सिन्धी लेखक वासदेव मोही को  29वें सरस्वती सम्मान के लिए चुना गया

सिन्धी लेखक वासदेव मोही को  29वें सरस्वती सम्मान के लिए चुना गया है। उन्हें उनकी लघुकथाओं के संग्रह ‘चेकबुक’ के लिए यह सम्मान प्रदान किया जा रहा है। इन लघु कथाओं में समाज के वंचित वर्ग के दुःख-दर्द का वर्णन किया गया है।  वासदेव मोही अब तक 25 पुस्तकें लिख चुके हैं, इसमें कवितायेँ, कहानियां और अनुदित पुस्तकें शामिल हैं। उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार से सभी सम्मानित किया जा चुका है।

सरस्वती सम्मान

प्रतिवर्ष यह सम्मान संविधान की आठवीं अनुसूची में दर्ज भाषाओं में प्रकाशित उत्कृष्ट साहित्यिक कृति को दिया जाता है। यह सम्मान के. के. बिड़ला फ़ाउंडेशन द्वारा दिया जाने वाला साहित्य पुरस्कार है। हिंदी के साहित्यकार डॉ॰ हरिवंश राय बच्चन को पहला सरस्वती सम्मान उनकी चार खंडों की आत्मकथा के लिए दिया गया था। सरस्वती सम्मान की शुरुआत 1991 में बिरला फाउंडेशन द्वारा की गयी थी। इस पुरस्कार के विजेता को 15 लाख रुपये, प्रशस्ति पत्र तथा प्रतीक चिन्ह इनामस्वरुप दिए जाते हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,