9 मई: विश्व प्रवासी पक्षी दिवस

प्रतिवर्ष संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) 9 मई को विश्व प्रवासी दिवस के रूप में मनाता है। यह एक वार्षिक अभियान है जो प्रवासी पक्षियों और उनके आवासों के संरक्षण की आवश्यकता के बारे में जागरूकता पैदा करता है।

थीम : पक्षी हमारी दुनिया को जोड़ते हैं

इस थीम के द्वारा मुख्य रूप से पारिस्थितिकीय कनेक्टिविटी और पारिस्थितिकी तंत्र की अखंडता पर बल दिया गया है। यह थीम ट्रैकिंग तकनीकों पर भी केंद्रित है जो दुनिया में प्रवासी पक्षियों के मार्गों का पता लगाने के लिए उपयोग की जाती हैं।

मुख्य बिंदु

विश्व प्रवासी दिवस की शुरुआत पहली बार 2006 में वन्य जीवों के प्रवासी प्रजातियों के संरक्षण पर कन्वेंशन में की गयी थी।

विषय का महत्व

प्रवासी प्रजातियों के लिए कनेक्टिविटी आवश्यक हो गई है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि वर्तमान में 1 मिलियन प्रजातियां कनेक्टिविटी के नुकसान के कारण विलुप्त होने के जोखिम का सामना कर रही हैं। प्रवासी पक्षी विभिन्न देशों को जोड़ते हैं और इन प्रजातियों के संरक्षण के लिए उनके बीच सहयोग आवश्यक है। जब पक्षी प्रवास करते हैं, तो वे अपने रास्तों के साथ कुछ आवासों पर निर्भर होते हैं। कुछ देशों में शहरीकरण, प्रदूषण, ग्लोबल वार्मिंग, आदि की कमी के कारण मार्ग खो गए हैं।

महत्वपूर्ण मुद्दे

मानव निर्मित संरचनाएं विशेष रूप से रात में प्रवासी पक्षियों की 350 से अधिक प्रजातियों के लिए बहुत खतरा पैदा करती हैं। कांच जैसी परावर्तनशील सामग्रियों से बनी संरचनाएं कई प्रवासी पक्षियों की मौत का कारण बनती हैं।  इमारतों के अलावा पवन टरबाइन भी इन पक्षियों के लिए बहुत खतरा हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,