CCEA ने शुगर मिल द्वारा भुगतान किये जाने वाले FRP को दी मंज़ूरी

आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति (CCEA) ने 2018-19 गन्ना सीजन के लिए गन्ने की निष्पक्ष व लाभकारी कीमत को मंज़ूरी दी। यह मंज़ूरी कृषि लागत व कीमत आयोग के सिफारिशों के आधार पर दी गयी। CCEA ने गन्ने की FRP में 20 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गयी।

निष्पक्ष व लाभकारी कीमत (Fair and Remunerative Price)

निष्पक्ष व लाभकारी कीमत वह न्यूनतम कीमत है जो सुगर मिल द्वारा किसानों गन्ने के लिए दी जाती है। यह कीमत कृषि लागत व कीमत आयोग की सिफारिशों के आधार पर निर्धारित की जाती है। इसे निर्धारित करने के लिए कई घटकों का विश्लेषण किया जाता है जैसे उत्पादन लागत, घरेलु तथा अंतर्राष्ट्रीय कीमतें, मांग व आपूर्ति इत्यादि।

पृष्ठभूमि

शुगर क्षेत्र भारतीय कृषि क्षेत्र का महत्वपूर्ण सेक्टर है। इस क्षेत्र से 5 करोड़ किसान तथा उनके आश्रित निर्भर हैं। इसके अतिरिक्त शुगर मिलों में 5 लाख लोग कार्यरत्त हैं। इसके अतिरिक्त लेबर और गन्ने के परिवहन इत्यादि में बड़ी संख्या में लोग संलग्न हैं।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , ,