DefExpo 2020 के बाद भारत और रूस के बीच रक्षा सौदा 16 अरब डॉलर के पार पहुंचा

DefExpo 2020 के दौरान भारत और रूस ने 16 अरब डॉलर के रक्षा सौदे पर हस्ताक्षर किये, यह रक्षा सौदे थलीय, हवाई तथा नौसैनिक उत्पादों के लिए किये गये हैं। इन रक्षा समझौतों के बाद दोनों देशों के बीच रक्षा व्यापार 16 अरब डॉलर के पार हो जायेगा।

मुख्य बिंदु

रूस और भारत के बीच S400 मिसाइल, कामोव हेलीकाप्टर तथा कलाश्निकोव राइफल इत्यादि के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये हैं। DefExpo 2020 के दौरान भारत के रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन ने रूस की सरकारी कंपनी रोसोबोरोन एक्सपोर्ट के साथ एडवांस्ड पायरोटेक्नीक इग्निशन सिस्टम के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये।

कामोव ka-226 हेलिकॉप्टर का निर्माण रूसी फर्म द्वारा किया जाएगा, इस हेलिकॉप्टर के कल-पूर्जे भारत में निर्मित किये जायेंगे।

DefExpo India – 2020

इस चार दिवसीय इवेंट में भारतीय रक्षा उद्योग को अपनी क्षमता प्रदर्शित करने का मौका मिलेगा, इससे निर्यात को भी बढ़ावा मिलेगा। DefExpo India – 2020 की थीम “भारत – रक्षा विनिर्माण का उभरता हुआ हब” है। इस प्रदर्शनी का फोकस रक्षा क्षेत्र का डिजिटल परिवर्तन है। इस प्रदर्शनी में उत्तर प्रदेश को रक्षा क्षेत्र में निवेश के लिए उपयुक्त स्थान के रूप में प्रस्तुत किया जायेगा। इस DefExpo के द्वारा विदेशी उपकरण निर्माताओं को भारतीय रक्षा उद्योग के साथ मिलकर कार्य करने का मौका मिलेगा, इससे मेक इन इंडिया को बढ़ावा मिलेगा।

Advertisement

Month:

Categories:

Tags: , , , ,