इसरो Page-4

इस श्रेणी में इसरो से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

भारत के GSAT-30 उपग्रह को फ्रेंच गुयाना से सफलतापूर्वक लांच किया गया

17 जनवरी, 2020 को भारत के GSAT-30 उपग्रह को फ्रेंच गुयाना से लांच किया गया, इसे एरियनस्पेस द्वारा लांच किया गया। इस उपग्रह की सहायता से INSAT-4A को रीप्लेस किया जायेगा। GSAT-30 उपग्रह एक संचार उपग्रह है। यह सैटेलाइट 15 वर्षों तक कार्य करेगा। इसका निर्माण इसरो ने किया है। इस उपग्रह का उपयोग DTH टेलीविज़न सेवाओं, सेलुलर कनेक्टिविटी,Read More...

IDRSS : इसरो का नया उपग्रह करेगा गगनयान क्रू की मदद

इसरो का नया उपग्रह IDRSS (Indian Data Relay Satellite System) पृथ्वी की निम्न कक्षा में भारतीय उपग्रहों को ट्रैक करेगा। यह एक नई उपग्रह श्रृंखला है जो अन्तरिक्ष में भारत की परिसंपत्तियों के बीच संचार स्थापित करेगा। मुख्य बिंदु यह उपग्रह श्रृंखला भारत के स्पेस स्टेशन तथा स्पेस डॉकिंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इससे भारत के मंगल,Read More...

इसरो तमिलनाडु में SSLV के लिए दूसरा लांच पोर्ट स्थापित करेगा

इसरो दक्षिण तमिलनाडु में तूतिकोड़ी में दूसरा लांच पोर्ट स्थापित करेगा। इसके लिए तमिलनाडु सरकार लगभग 2300 एकड़ भूमि की व्यवस्था करेगी। इस नए पोर्ट से स्माल सैटेलाइट लांच व्हीकल (SSLV) लांच किये जायेंगे। SSLV की सहायता से 500 किलोग्राम तक के पेलोड को अन्तरिक्ष में ले जाया जा सकता है। स्माल सैटेलाइट लांच व्हीकल छोटे सैटेलाइट्सRead More...

मिशन गगनयान के लिए चार अन्तरिक्षयात्रियों का चयन किया गया

हाल ही में मिशन गगनयान के लिए भारतीय वायुसेना से चार लोगों को चुना गया है। इन वायुसेना के जवानों को रूस में अंतरिक्षयात्रियों का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। गगनयान मिशन के तहत भारत पहली बार अन्तरिक्षयात्रियों को 2022 में अन्तरिक्ष में भेजेगा। मिशन गगनयान भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने मिशन गगनयानRead More...

इसरो चन्द्रमा पर लैंडिंग के लिए लांच करेगा चंद्रयान-3

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन ने  चन्द्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग के प्रयास की घोषणा की है। यह कार्य इस वर्ष के अंत तक अथवा अगले वर्ष तक पूर्ण हो सकता है । इसरो का चंद्रयान-2 मिशन चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करने में नाकाम रहा था। सॉफ्ट लैंडिंग के समय इसरो का लैंडर विक्रम से सम्पर्क टूट गया था। हालांकिRead More...