कुपोषण

इस श्रेणी में कुपोषण से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए आयुष मंत्रालय और केन्द्रीय महिला व बाल विकास मंत्रालय के बीच MoU पर हस्ताक्षर किये गये

आयुष मंत्रालय और महिला व बाल विकास मंत्रालय ने 20 सितंबर, 2020 को देश में कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू पर पोशन अभियान के तहत हस्ताक्षर किए गए थे। मुख्य तथ्य महिला और बाल विकास मंत्रालय देश में कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए वैज्ञानिक रूप से सिद्ध और उपयोगकर्ताRead More...

निमोनिया से होने वाले मौतों में भारत दूसरे स्थान पर : यूनिसेफ रिपोर्ट

14 नवम्बर, 2019 को संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक 2018 में विश्व भर मे निमोनिया के कारण  पांच वर्ष से कम आयु की बच्चों की होने वाली मौतों में भारत दूसरे स्थान पर है। विश्व भर में 2018 में आठ लाख से अधिक बच्चों की मौत हुई जिनकी उम्र पांच वर्ष से कम थी। गौरतलब है कि यह रोग टीकाकरण के द्वारा रोका जा सकता है, परन्तुRead More...

वैश्विक पोषण रिपोर्ट 2018 के मुख्य बिंदु

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा वैश्विक पोषण रिपोर्ट, 2018 जारी की गयी, इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व में सबसे ज्यादा अवरुद्ध विकास युक्त बच्चे भारत में ही है। विश्व के 1/3 विकास अवरुद्ध बच्चे भारत में हैं। वैश्विक पोषण रिपोर्ट 2013 में विकास के लिए पोषण शिखर सम्मेलन के बाद वैश्विक पोषण रिपोर्ट को प्रस्तुतRead More...

ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2018: भारत को प्राप्त हुआ 103वां स्थान

हाल ही में ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2018 प्रकाशित किया गया, इस सूचकांक के मुताबिक वर्ष 2000 के मुकाबले कुपोषण में 29.2 से 20.9 की गिरावट हुई है। इस सूचकांक में 119 देशों को रैंकिंग प्रदान की गयी है, इसमें भारत का स्थान 103वां हैं। इस सूचकांक को कंसर्न वर्ल्डवाइड तथा वेल्थहंगरहिलफे नामक वैश्विक NGO द्वारा तैयार किया गया है। मुख्यRead More...

पोषण अभियान: भारत की पोषण संबंधी चुनौतियों पर राष्ट्रीय परिषद की पहली बैठक आयोजित

पोषण अभियान के अंतर्गत भारत की पोषण से जुडी चुनौतियों पर राष्ट्रीय परिषद की पहली बैठक नई दिल्ली में आयोजित हुई। इसमें नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ राजीव कुमार, सीईओ अमिताभ कांत तथा केंद्रीय और राज्य सरकार के विभिन्न मंत्रालयों के प्रतिनिधियों की भागीदारी देखी गई।इसका उद्देश्य समन्वयित अंतर-क्षेत्रीय कार्रवाईRead More...