त्रिपुरा

इस श्रेणी में त्रिपुरा से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

त्रिपुरा में किया जाएगा हार्नबिल उत्सव का आयोजन

त्रिपुरा सरकार ने पहली बार 8 फरवरी, 2020 को दो दिवसीय हार्नबिल उत्सव के आयोजन करने का निर्णय लिया है। हालाँकि हार्नबिल उत्सव नागालैंड का महत्वपूर्ण उत्सव है, इसका आयोजन नागालैंड में दिसम्बर माह में किया जाता है। त्रिपुरा द्वारा हार्नबिल का आयोजन हार्नबिल नामक पक्षी के संरक्षण तथा पर्यटन के द्वारा आजीविका कोRead More...

21 जनवरी : त्रिपुरा, मणिपुर और मेघालय का राज्यत्व दिवस

21 जनवरी को त्रिपुरा, मणिपुर और मेघालय का 47वां राज्यत्व दिवस मनाया जा रहा है। त्रिपुरा, मणिपुर और मेघालय को 21 जनवरी, 1972 को पूर्ण राज्य का दर्जा मिला था। उत्तर पूर्वी राज्यों का पुनर्गठन स्वतंत्रता के समय भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र को निम्नलिखित तीन भागों में विभाजित किया गया था : ब्रिटिश भारत का असम प्रांत Read More...

ब्रू लोगों के पुनर्वास के लिए समझौता किया गया

ब्रू विस्थापितों की समस्या का समाधान करने के लिए त्रिपुरा और मिजोरम के साथ मिलकर एक नए समझौते पर हस्ताक्षर किये गये हैं, इस नए समझौते के अंतर्गत त्रिपुरा में ही ब्रू विस्थापितों को भूमि दी जायेगी और उन्हें त्रिपुरा में ही बसाया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार 600 करोड़ रुपये मंज़ूर किये हैं। मुख्य बिंदु इस समझौते मेंRead More...

त्रिपुरा में प्रथम SEZ की स्थापना की जाएगी

भारत सरकार ने त्रिपुरा के सबरूम में SEZ (स्पेशल इकनोमिक ज़ोन) की स्थापना को मंज़ूरी है, इस SEZ में कृषि आधारित खाद्य प्रसंस्करण पर बल दिया जायेगा। केंद्र सरकार इस परियोजना में 1550 करोड़ रुपये निवेश करेगी। मुख्य बिंदु इस SEZ का विकास त्रिपुरा औद्योगिक विकास कारपोरेशन द्वारा किया जायेगा। इस SEZ में धागे, टायर, बांस उद्योग,Read More...

त्रिपुरा से शुरू हुई 7वीं आर्थिक जनगणना

भारत की 7वीं आर्थिक जनगणना की शुरुआत त्रिपुरा से हो गयी है। अगस्त व सितम्बर में इसे अन्य राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में भी लांच किया जायेगा। इस जनगणना का आयोजन सांख्यिकी व कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है। मुख्य बिंदु इस जनगणना का आयोजन पांच वर्ष के अंतराल के बाद किया जा रहा है। इसकेRead More...