भारतीय अर्थव्यवस्था

इस श्रेणी में भारतीय अर्थव्यवस्था से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

भारत सरकार ने कैलेंडर, डायरी और त्योहार ग्रीटिंग कार्ड की छपाई पर प्रतिबंध लगाया

भारत सरकार ने छपाई सामग्री जैसे डायरी, कैलेंडर और त्योहार के ग्रीटिंग कार्ड पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह आदेश वित्त मंत्रालय द्वारा पारित किया गया था। मंत्रालय ने सरकारी अंगों को ऐसी सामग्री प्रकाशित करने के लिए डिजिटल साधनों को अपनाने के लिए कहा है। मुख्य बिंदु भारत सरकार ने कैलेंडर, डायरी, कॉफी टेबल बुकRead More...

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.29 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 537.54 अरब डॉलर पर पहुंचा

21 अगस्त, 2020 को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.29 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ 537.54 अरब डॉलर तक पहुँच गया है। विश्व में सर्वाधिक विदेशी मुद्रा भंडार वाले देशों की सूची में भारत 5वें स्थान पर है, इस सूची में चीन पहले स्थान पर है। पिछले कुछ समय से भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में काफी वृद्धि हुईRead More...

मई 2020 में आठ कोर इंडस्ट्रीज की विकास दर में 23.4% की गिरावट दर्ज की गयी

मई 2020 के महीने के लिए आठ प्रमुख उद्योगों के सूचकांक पर 30 जून, 2020 को जारी किया गया। यह सूचकांक आर्थिक मामलों के कार्यालय (उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग के अधीन) द्वारा जारी किया गया था। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में शामिल कुल वस्तुओं में से आठ कोर इंडस्ट्रीज में कुल 40.27 प्रतिशत भार शामिल है।  आठ मुख्य उद्योगRead More...

COVID-19: भारत की पांचवीं मंदी

1947 में आजादी के बाद से भारत ने चार मंदी का सामना किया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के अनुसार, मंदी 1958, 1966, 1973 और 1980 में हुई थी। मुख्य बिंदु मंदी को देश की आर्थिक गतिविधियों के साथ-साथ बिक्री, आय और रोजगार में गिरावट के रूप में परिभाषित किया गया है। भारत ने अब तक चार ऐसी नकारात्मक जीडीपी वृद्धि देखी है। 1958 में, जीडीपी की वृद्धिRead More...

COVID-19 से लड़ने के लिए G20 देशों ने 21 बिलियन अमरीकी डालर की प्रतिबद्धता व्यक्त की

6 जून, 2020 को G20 देशों ने COVID-19 के खिलाफ लड़ने के लिए 21 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक की प्रतिबद्धता व्यक्त की। इन देशों ने अब तक वैश्विक आर्थिक संकट से लड़ने में मदद के लिए मार्च, 2020 में 5 ट्रिलियन अमरीकी डालर की घोषणा की थी। 21 बिलियन डालर की प्रतिबद्धता केवल आमंत्रित सदस्यों द्वारा की गई थी। मुख्य बिंदु जी-20 देशों ने वैश्विकRead More...