भारतीय कृषि

इस श्रेणी में भारतीय कृषि से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

PM-KISAN योजना: 18,517 करोड़ रुपये जारी किये गये

14 मई, 2020 को कृषि मंत्रालय ने पीएम-किसान योजना के तहत 18,517 करोड़ रुपये जारी किए। इससे 9.25 करोड़ परिवारों को लाभ मिलेगा। मुख्य बिंदु भारत सरकार ने लॉक डाउन के बाद से अब तक पीएम-किसान योजना के तहत 18,517 करोड़ रुपये जारी किए हैं। यह धनराशि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना योजना के एक हिस्से के रूप में जारी की गई थी। एक तरफ,Read More...

देश में फसल बिजाई क्षेत्र में 36% की वृद्धि हुई

20 अप्रैल, 2020 को केंद्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय ने घोषणा की कि ग्रीष्मकालीन फसलों के बिजाई क्षेत्र में 36% की वृद्धि हुई है। गौरतलब है कि खेती को लॉकडाउन से पूरी तरह से छूट दी गई है। मुख्य बिंदु इस दौरान चावल की खेती में मुख्य रूप से वृद्धि देखी गई है। पिछले साल की तुलना में बारिश में 14% की वृद्धि हुई है। गर्मियोंRead More...

ICAR द्वारा किसान नवोन्मेष कोष की स्थापना की जायेगी

भारतीय कृषि अनुसन्धान परिषद् (ICAR) के महानिदेशक ने ‘किसान नवोन्मेष कोष’ की स्थापना की घोषणा की है, इस कोष की स्थापना अगले वित्त वर्ष तक की जायेगी। यह घोषणा किसान विज्ञान कांग्रेस के दौरान की गयी। नवोन्मेष केंद्र की स्थापना नई दिल्ली में की जायेगी जो किसानों को अनुसन्धान में सहायता प्रदान करेगा। भारतीय कृषिRead More...

2018-19 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन के अग्रिम अनुमान

हाल ही में कृषि मंत्रालय ने 2018-19 के लिए प्रमुख फसलों के उत्पादन के दूसरे अग्रिम अनुमान जारी किये। मुख्य बिंदु खाद्यान्न – 281.37 मिलियन टन चावल – 115.60 मिलियन टन (रिकॉर्ड) न्यूट्री/मोटे अनाज – 42.64 मिलियन टन मक्का – 27.80 मिलियन टन दालें – 24.02 मिलियन टन तूर – 3.68 मिलियन टन चना – 10.32 मिलियन टन आयल सीड – 31.50 मिलियन टन सोयाबीन – 13.69Read More...

कैबिनेट ने कृषि निर्यात नीति को मंज़ूरी दी

केन्द्रीय कैबिनेट ने कृषि निर्यात नीति को मंज़ूरी दे दी है, इसका उद्देश्य वर्ष 2022 तक कृषि निर्यात को 60 अरब डॉलर तक पहुँचाना है। इस नीट के तहत प्रमुख रूप से चाय, कॉफ़ी तथा चावल इत्यादि कृषि उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा दिया जायेगा। इस नवीन कृषि नीट से विश्व के कृषि व्यापार में भारत की हिस्सेदारी में भी वृद्धि होगी। मुख्यRead More...