लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट

इस श्रेणी में लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

भारतीय वायु सेना शुरू करेगी फ्लाइंग बुलेट स्क्वाड्रन

भारतीय वायु सेना LCA (लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट) तेजस के एक बेड़े के साथ नंबर -18 - 'फ्लाइंग बुलेट' नामक अपने स्क्वाड्रन को चालू करने जा रही है। वायु सेना प्रमुख, एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया तमिलनाडु के कोयम्बटूर के पास सुदूर बेस पर इस स्क्वाड्रन का शुभारंभ करेंगे। आधुनिक हल्के लड़ाकू विमान तेजस के साथ काम करनेRead More...

HAL वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया और श्रीलंका में लॉजिस्टिक्स बेस स्थापित करेगा

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया और श्रीलंका में लॉजिस्टिक्स बेस स्थापित करने जा रहा है। इसका उद्देश्य इन देशों को भारत के सैन्य हेलीकॉप्टर और लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस को खरीदने के लिए आकर्षित करना है। मुख्य बिंदु हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) वर्तमान में रक्षा निर्यातRead More...

लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस के नौसैनिक संस्करण ने सफलतापूर्वक आईएनएस विक्रमादित्य पर लैंडिंग की

लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस के नौसैनिक संस्करण ने भारतीय नौसेना के एयरक्राफ्ट कैरिएर आईएनएस विक्रमादित्य पर सफल लैंडिंग की। आईएनएस विक्रमादित्य के डेक पर लैंड करने के बाद 87 मीटर के दूरी में पूरी तरह से रुक गया। तेजस तेजस हल्के भार वाला सिंगल सीटर लड़ाकू विमान है, इसमें एक ही इंजन उपयोग किया गया है। यह अपनीRead More...

लंगकावी इंटरनेशनल मेरीटाइम एरो एक्सपो 2019

लंगकावी इंटरनेशनल मेरीटाइम एरो एक्सपो 2019 (LIMA-19) की शुरुआत हाल ही में मलेशिया में हुई। भारतीय वायुसेना इस मेरीटाइम एरो एक्सपो में पहली बार हिस्सा ले रही है। यह LIMA का 15वां संस्करण है। इसका उद्घाटन मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बिन मोहम्मद ने की। लंगकावी इंटरनेशनल मेरीटाइम एरो एक्सपो लंगकावी इंटरनेशनल मेरीटाइमRead More...

भारतीय वायु सेना द्वारा अपने सबसे बड़े सैन्य अभ्यास गगन शक्ति का आयोजन किया जायेगा

8-22 अप्रैल तक भारतीय वायु सेना द्वारा अपने सबसे बड़े सैन्य अभ्यास गगन शक्ति का आयोजन किया जायेगा। पाकिस्तान और चीन से भारत को बढ़ते सुरक्षा खतरों के मद्देनज़र दो मोर्चों अर्थात् उतरी और पश्चिमी सीमा पर यह अभ्यास किया जाएगा। मुख्य तथ्य o पश्चिमी सीमा पर तैनात बलों द्वारा गगन शक्ति अभ्यास के पहले चरण में अभ्यासRead More...