वन्दे भारत एक्सप्रेस

इस श्रेणी में वन्दे भारत एक्सप्रेस से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

नई दिल्ली से कटरा के लिए वन्दे भारत एक्सप्रेस को रवाना किया गया

3 अक्टूबर, 2019 को केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली से कटरा के लिए वन्दे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। वन्दे भारत ने नई दिल्ली और कटरा के बीच की दूरी को मात्र 8 घंटे में तय करेगी। गौरतलब है कि यह ट्रेन माता वैष्णो देवी के मंदिर जाने वाले भक्तों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगी। यह ट्रेन अम्बालाRead More...

वन्दे भारत एक्सप्रेस ने नई दिल्ली से कटरा के बीच ट्रायल रन पूरा किया

भारतीय रेलवे के उत्तरी रेलवे जोन ने हाल ही में वन्दे भारत एक्सप्रेस का ट्रायल सफलतापूर्वक पूरा किया। यह ट्रायल नई दिल्ली तथा जम्मू-कश्मीर के एक कस्बे कटरा के बीच किया गया। वन्दे भारत ने नई दिल्ली और कटरा के बीच की दूरी को मात्र 8 घंटे में तय किया। गौरतलब है कि यह ट्रेन माता वैष्णो देवी के मंदिर जाने वाले भक्तोंRead More...

वन्दे भारत एक्सप्रेस ने 1 लाख किलोमीटर की यात्रा पूरी की

भारत की पहली इंजनलेस ट्रेन “वन्दे भारत एक्सप्रेस” ने एक लाख किलोमीटर की यात्रा पूरी कर ली है। अब वन्दे भारत एक्सप्रेस की अन्य इकाइयों का उत्पादन भी किया जाएगा। ट्रेन 18 भारत की पहली बिना इंजन की ट्रेन है। इसका निर्माण चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में किया गया है। इस रेल के निर्माण में 100 करोड़ रुपये की लागतRead More...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वन्दे भारत हाई स्पीड ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वन्दे भारत हाई स्पीड ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस रेलगाड़ी “ट्रेन 18” का नाम बदलकर “वन्दे भारत एक्सप्रेस” कर दिया गया है। यह रेलगाड़ी दिल्ली से वाराणसी के बीच चलेगी। 16 कोच वाली इस रेलगाड़ी का निर्माण भारत में ही पूर्ण रूप से  भारतीय इंजिनियरों द्वारा किया गया है। इस विश्वस्तरीयRead More...

ट्रेन 18 का नाम बदलकर वन्दे भारत एक्सप्रेस किया गया

भारत के सबसे तेज़ रेलगाड़ी ट्रेन 18 का नाम बदलकर “वन्दे भारत एक्सप्रेस” कर दिया गया है। यह रेलगाड़ी दिल्ली से वाराणसी के बीच चलेगी। 16 कोच वाली इस रेलगाड़ी का निर्माण भारत में ही पूर्ण रूप से  भारतीय इंजिनियरों द्वारा किया गया है। इस विश्वस्तरीय रेल का किराया शताब्दी एक्सप्रेस से 40-50% अधिक हो सकता है। यह रेलगाड़ीRead More...