विक्रम

इस श्रेणी में विक्रम से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

नासा ने चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ को खोज निकाला

अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा के उपग्रह ने चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ को ढूंढ लिया है। नासा ने 'विक्रम' के लैंडिंग स्थान का चित्र जारी किया है। यह चित्र नासा के Lunar Reconnaissance Orbiter (LRO) द्वारा लिया गया है। नासा द्वारा जारी किया गया चित्र चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ का संपर्क इसरो के ग्राउंड स्टेशन से लैंडिंग से ठीकRead More...

चंद्रयान 2 : चन्द्रमा के बाह्यमंडल में आर्गन 40 की खोज की गयी

चंद्रयान 2 ने चन्द्रमा के बाह्यमंडल में आर्गन 40 की खोज की। आर्गन 40 आर्गन का एक आइसोटोप है। इसरो ने आर्गन 40 के चन्द्रमा के बाह्यमंडल में पहुँचने की प्रक्रिया का विस्तृत वर्णन किया है। यह पोटैशियम-40 के रेडियोएक्टिव विखंडन से उत्पन्न होता है। मुख्य बिंदु CHACE-20 (Chandra’s Atmospheric Composition Explorer 2) चंद्रयान-2 ऑर्बिटर में लगा हुआ एक पेलोडRead More...

चंद्रयान-2 अपडेट : ऑर्बिटर ने लैंडर ‘विक्रम’ का थर्मल चित्र लिया

इसरो ने चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ की लोकेशन की जानकारी प्राप्त कर ली है, दरअसल हाल ही में चन्द्रमा की कक्षा में परिक्रमा कर रहे ऑर्बिटर ने ‘विक्रम’ का थर्मल चित्र लिया है। परन्तु अभी तक ‘विक्रम’ से संपर्क नही हो पाया है। चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ का संपर्क इसरो के ग्राउंड स्टेशन से लैंडिंग से ठीक पहलेRead More...

चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ से इसरो का संपर्क टूटा

चंद्रयान-2 के लैंडर ‘विक्रम’ का संपर्क इसरो के ग्राउंड स्टेशन से लैंडिंग से ठीक पहले टूट गया। जब यह संपर्क टूटा उस समय  ‘विक्रम’ चन्द्रमा की सतह से मात्र 2.1 किलोमीटर ऊपर था। अभी डाटा का विश्लेषण किया जा रहा है। अभी तक लैंडर 'विक्रम' की स्थिति के बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी है। मिशन चंद्रयान-2 चंद्रयान-2Read More...

आज रात चंद्रयान-2 चन्द्रमा की सतह पर लैंड करेगा

भारत चंद्रयान-2 मिशन अपनी मंजिल के काफी करीब पहुँच गया है। आज रात 1 से 2 बजे के बीच लैंडर ‘विक्रम’ को चन्द्रमा की सतह पर लैंड किया जायेगा।  ‘विक्रम’ चन्द्रमा की सतह को स्कैन करके लैंडिंग स्थल का चयन स्वयम करेगा, यह निर्णय सतह से मात्र 100 मीटर ऊपर लिया जायेगा। ‘विक्रम’ की सफल सॉफ्ट लैंडिंग के बाद उसके भीतर से ‘प्रज्ञान’Read More...