विदेश मंत्रालय

इस श्रेणी में विदेश मंत्रालय से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

विदेश मंत्रालय ने हिन्द-प्रशांत खंड की स्थापना की

विदेश मंत्रालय ने विदेश कार्यालय में हिन्द-प्रशांत नामक नए खंड की स्थापना की है। इसका उद्देश्य 2018 में शांग्री-ला वार्ता में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा प्रस्तुत की गयी हिन्द-प्रशांत नीति को आगे बढ़ाना है। हिन्द प्रशांत खंड वर्तमान में हिन्द प्रशांत खंड के प्रमुख संयुक्त सचिव विक्रम दोराईस्वामी हैं। हिन्दRead More...

कैबिनेट ने दी रियायती वित्त योजना के विस्तार को मंज़ूरी

केन्द्रीय कैबिनेट ने रियायती वित्त योजना (CFS) के 5 वर्ष (2018 से 2023) के विस्तार को मंज़ूरी दी। इसका उद्देश्य विदेश में सामरिक रूप से महत्वपूर्ण अधोसंरचना परियोजनाओं में भारतीय कंपनियों को कार्य करने के लिए बढ़ावा देना है। मुख्य बिंदु इस योजना के तहत विदेश मंत्रालय द्वारा अन्य देशों में सामरिक रूप से महत्वपूर्णRead More...

दिल्ली डायलॉग का 10वां संस्करण नई दिल्ली में किया गया आयोजित

दिल्ली डायलॉग का दसवां संस्करण नई दिल्ली में आयोजित किया गया, इसकी मेजबानी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने की। इस वर्ष दिल्ली डायलॉग की थीम “भारत-आसियान समुद्री सहयोग को मजबूती” थी। भारत-आसियान कॉमेमोरेटिव समिट के बाद यह पहला बड़ा इवेंट था। भारत-आसियान कॉमेमोरेटिव समिट जनवरी, 2018 में नई दिल्ली में आयोजित कियाRead More...

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज में बहरीन में किया भारतीय दूतावास के नए भवन का उद्घाटन

  अपनी दो दिवसीय बहरीन यात्रा के दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बहरीन में भारतीय दूतावास के नए भवन का उद्घाटन किया। सुषमा स्वराज की बहरीन यात्रा के दौरान व्यापार, निवेश और आतंकवाद के विरुद्ध ऑपरेशन इत्यादि मुख्य बिंदु होंगे। इस यात्रा के दौरान द्विपक्षीय संबंधो को मज़बूत बनाने पर जोर दिया जायेगा।Read More...

भारत, पाकिस्तान ने एक दूसरे को सौंपी कैदियों की सूची

भारत और पाकिस्तान ने एक दूसरे की जेल में कैद नागरिक कैदियों और मछुआरों की सूचियों का आदान-प्रदान किया है. सूची मई 2008 में दोनों देशों के बीच हस्ताक्षरित द्विपक्षीय समझौते के प्रावधान के अनुसार साझा की गई थी. इस समझौते के अनुसार 1 जनवरी तथा 1 जुलाई को कैदियों की सूचि हर साल दो बार आदान-प्रदान की जानी चाहिए. मुख्यRead More...