DRDO Page-11

इस श्रेणी में DRDO से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

रक्षा अधिग्रहण परिषद् ने नौसेना के लिए 2 ब्रह्मोस सुपरसोनिक मिसाइल बैटरी खरीदने के लिए मंज़ूरी दी

रक्षा अधिग्रहण परिषद् ने नौसेना के लिए सॉफ्टवेयर डिफाइंड रेडियो (SDR टैक्टिकल) तथा नेक्स्ट जनरेशन मेरीटाइम मोबाइल कोस्टल बैटरीज (NGMMCB-Long Range) खरीदने के लिए मंज़ूरी दी। यह निर्णय रक्षा अधिग्रहण परिषद् की बैठक में लिया गया, यह राजनाथ सिंह के रक्षा मंत्री बनने की बाद की पहली बैठक थी। स्वदेशी रूप से निर्मित यह दोनों उपकरणRead More...

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन ने हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डेमोनस्ट्रेटर व्हीकल का परीक्षण किया

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) ने हाल ही में ओडिशा में नए हाइपरसोनिक टेक्नोलॉजी डेमोनस्ट्रेटर व्हीकल (HSTDV) का परीक्षण किया। यह परीक्षण बंगाल की खाड़ी में अब्दुल कलाम द्वीप पर किया गया। राडार से प्राप्त सूचना के अनुसार यह परीक्षण सफल रहा। यह परीक्षण भारत के हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल सिस्टम के विकास के लिए ज़रूरीRead More...

सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का परीक्षण किया गया

ओडिशा के चांदीपुर इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज के लांच काम्प्लेक्स-3 में  सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस के एंटी-शिप संस्करण का परीक्षण किया गया। ब्रह्मोस मिसाइल ब्रह्मोस मिसाइल का नाम दो नदियों के नामों को जोड़कर बनाया गया है, यह नाम भारतीय नदी “ब्रह्मपुत्र” तथा रूस की “मोस्कवा” नदी के नाम को मिलाकर बनाया गयाRead More...

DRDO ने आकाश मिसाइल के नए संस्करण का परीक्षण सफलतापूर्वक किया

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) ने हाल ही में सतह से हवा में मार कर सकने वाली मिसाइल आकाश के नए संस्करण आकाश-MK-1S का परीक्षण किया। इस मिसाइल का परीक्षण ओडिशा के बालासोर में किया गया। यह परीक्षण सफल रहा। इस मिसाइल में स्वदेशी रूप से विकसित सीकर का उपयोग किया गया है। आकाश मिसाइल आकाश मिसाइल छोटी दूरी की सतह-से-हवाRead More...

ब्रह्मोस मिसाइल के हवाई संस्करण का परीक्षण सु-30 MKI एयरक्राफ्ट से किया गया  

भारतीय वायुसेना ने ब्रह्मोस मिसाइल के हवाई संस्करण का परीक्षण Su-30 MKI एयरक्राफ्ट से दाग कर किया। यह परीक्षण सफल रहा, मिसाइल ने सटीकता से अपने लक्ष्य को भेदा। इस परीक्षण के लिए एयरक्राफ्ट में इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल तथा सॉफ्टवेयर परिवर्तन किये गये। इस कार्य के लिए भारतीय वायुसेना के इंजीनियर, हिंदुस्तान एरोनॉटिक्सRead More...