DRDO Page-12

इस श्रेणी में DRDO से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

भारतीय नौसेना ने किया MRSAM मिसाइल का परीक्षण

भारतीय नौसेना ने हाल ही में MRSAM मिसाइल (मध्यम दूरी की सतह से हवा में मार कर सकने वाली मिसाइल) का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण भारतीय नौसेना, रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन व इजराइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज द्वारा मिलकर किया गया। DRDO ने इस मिसाइल विकास संयुक्त रूप से इजराइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज के साथ मिलकर किया है।Read More...

DRDO ने अभ्यास ड्रोन की उड़ान का सफल परीक्षण किया

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन (DRDO) ने “अभ्यास” (ABHYAS – High-speed Expendable Aerial Target) नामक ड्रोन की उड़ान का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण ओडिशा  के बालासोर में चांदीपुर इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में किया गया। इस ड्रोन में इन-लाइन स्माल गैस टरबाइन इंजन का इस्तेमाल किया गया, इसमें स्वदेशी रूप से निर्मित MEMS बेस्ड नेविगेशन प्रणाली काRead More...

मिशन शक्ति के कारण उत्पन्न अधिकतर कचरा नष्ट हो चुका है : DRDO

रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (DRDO) के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी ने हाल ही में स्पष्ट किया है कि भारत के मिशन शक्ति के कारण अन्तरिक्ष में बिखरा हुआ मलबा काफी हद तक समाप्त हो चुका है, बचा हुआ कचरा भी शीघ्र ही समाप्त हो जाएगा। दरअसल भारत के मिशन शक्ति के बाद अमेरिका की अन्तरिक्ष एजेंसी नासा ने अन्तरिक्ष में फैलने वालेRead More...

EMISAT से भारत की रक्षा क्षमता में वृद्धि होगी

हाल ही में इसरो ने EMISAT (इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट) लांच किया, इससे भारत की रक्षा क्षमता में वृद्धि होगी। EMISAT EMISAT को इसरो तथा DRDO ने मिलकर विकसित किया है। EMISAT के द्वारा भारत दुश्मन देश के राडार को इंटरसेप्ट कर सकता है। इससे भारत की सामरिक क्षमता में वृद्धि होगी। भारतीय सशस्त्र बल दुश्मन देश के राडारRead More...

DRDO ने युद्धकालीन दवाएं विकसित की

रक्षा अनुसन्धान व विकास संगठन ने हाल ही में युद्धकालीन दवाओं की श्रृंखला तैयार की है। इन दवाओं की सहायता से “गोल्डन ऑवर” को तब तक बढ़ाया जा सकता है जब तक सैनिक अस्पताल में नहीं पहुँच जाता। इन दवाओं की सहायता से पुलवामा जैसे आतंकी हमले में मृतकों की संख्या में कमी आएगी। युद्धकालीन दवाएं इन दवाओं में बहते हुएRead More...