RBI

इस श्रेणी में RBI से संबन्धित हिन्दी भाषा के करेंट अफेयर्स (समाचार सारांश) एवं समसामयिक घटनाक्रम का SSC, Railways, RAS/RPSC, BPSC, MPPSC, JPSC, HPSC, UPPSC, UKPSC एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण समाचारों का संग्रह किया गया है।

राजेश्वर राव को आरबीआई का नया डिप्टी-गवर्नर नियुक्त किया गया

7 अक्टूबर, 2020 को भारत सरकार ने एम. राजेश्वर राव को भारतीय रिजर्व बैंक के नए डिप्टी-गवर्नर के रूप में नियुक्त किया। मार्च 2020 में यह पद खाली हो गया था जब पूर्व डिप्टी-गवर्नर एन.आर. विश्वनाथन ने अपना कार्यकाल पूरा होने से पहले स्वास्थ्य मुद्दों का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था। उनका कार्यकाल सितंबर 2020 में पूराRead More...

कामथ पैनल की रिपोर्ट: ऋण पुनर्गठन के लिए 26 क्षेत्रों की पहचान की गई

7 सितंबर, 2020 को, न्यू डेवलपमेंट बैंक के पूर्व प्रमुख के.वी. कामथ के नेतृत्व में पांच सदस्यीय समिति ने भारतीय रिजर्व बैंक को अपनी रिपोर्ट सौंपी। पैनल का गठन COVID-19 महामारी से प्रभावित ऋणों के एकमुश्त पुनर्गठन के लिए वित्तीय मानकों पर सिफारिशें करने के लिए किया गया था। मुख्य बिंदु पैनल ने उस राशि की पहचान नहीं कीRead More...

RBI ने वित्तीय शिक्षा 2020-2025 के लिए राष्ट्रीय रणनीति का अनावरण किया

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने अगले पाँच वर्षों की अवधि यानी 2020 से 2025 तक  के लिए वित्तीय शिक्षा के लिए राष्ट्रीय रणनीति (NSFE) शुरू की है। यह दूसरी राष्ट्रीय रणनीति है; पहली NSFE 2013 में लॉन्च की गयी थी। यह NSFE 2020-25 एक आर्थिक रूप से जागरूक और सशक्त भारत को प्राप्त करने के उद्देश्य से लांच की गयी है। वित्तीय शिक्षा के लिए राष्ट्रीयRead More...

भारत सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण की स्थापना की

भारत सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण की स्थापना की है। इस प्राधिकरण का मुख्यालय गुजरात के गांधीनगर में स्थापित किया जायेगा। मुख्य बिंदु इस प्राधिकरण की स्थापना एक अधिसूचना के माध्यम से की गयी। भारत सरकार द्वारा जारी यह अधिसूचना IFSCA अधिनियम, 2019 के कुछ प्रभावों को लागू करती है। यह प्राधिकरणRead More...

RBI ने 50,000 करोड़ रुपये के विशेष तरलता म्युचुअल फंड की घोषणा की

27 अप्रैल, 2020 को भारतीय रिजर्व बैंक ने म्यूचुअल फंड के लिए 50,000 करोड़ रुपये की विशेष तरलता सुविधा की घोषणा की। भारतीय रिजर्व बैंक पूंजी बाजारों में तरलता का प्रवाह बढ़ा रहा है क्योंकि COVID-19 ने म्यूचुअल फंड्स पर तरलता का दबाव डाला है। मुख्य बिंदु म्यूचुअल फंड्स के लिए विशेष तरलता सुविधा (SLF-MF)  90 दिनों के लिए रेपो संचालनRead More...